हरदा ने किया टूटे पुल का निरीक्षण, कहा- ये बारिश नहीं बल्कि खनन की भेंट चढ़ा, CM से की ये मांग

देहरादून : पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने आज रानीपोखरी में टूटे पुल का निरीक्षण किया। हरीश रावत ने सोशल मीडिया के जरिए इस हादसे का कारण बड़े धड़ल्ले से हो रहे खनन को बताया। हरीश रावत ने इस हादसे को लेकर सरकार पर हमला भी किया। हरीश रावत ने कहा कि ये पुल खनन की भेंट चढ़ा है।

मीडिया से बात करते हुए हरदा ने कहा कि यह बड़ी घटना है और बहुत चिंताजनक है। हरीश रावत ने कहा कि यह पुल नदी में बहुत ज्यादा पानी आने से नहीं टूटा है बल्कि बारिश के पानी से ज्यादा नुकसान इस पुल को में खनन हुआ है। हरीश रावत ने कहा कि यह पुल तो बैलेंस पर आधारित होते हैं। हरीश रावत ने इस दौरान सरकार समेत पीडब्ल्यूडी पर हमला किया और कहा कि पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों ने गौला के पुल से सबक नहीं लिया है।

हरीश रावत ने सीएम पुष्कर धामी से मांग करते हुए कहा कि सीएम एनुअल सेफ्टी ऑडिट करवाएं और उसे प्रकाशित करें। हरीश रावत ने कहा कि सरकार देखे कि कहीं कोई ऐसी गलती तो नहीं हुई है जिसके चलते यह पुल टूटा है। हरीश रावत ने कहा कि मुझे मिली जानकारी के अनुसार पुल के नीचे निर्माण कार्य के लिए वहीं से खनन किया जा रहा था और वहीं का मेटेरियल वहां लगाया गया है। हरदा के अनुसार कम से कम 300-400 मीटर दूर तक निर्माण कार्य के लिए खनन नहीं होना चाहिए। हरीश रावत ने इसकी जांच की मांग सीएम से की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here