देखिए भाजपा प्रत्याशी प्रेमचंद अग्रवाल की गुंडागर्दी, CRPF जवान को बोले- जा नहीं लगाता मास्क, क्या कर लेगा तू मेरा, सुरक्षा कर बस

उत्तराखंड में सुबह 8 बजे से मतदान शुरू हुआ और 6 बजे खत्म हुआ। बुजुर्ग से लेकर महिलाएं और पुरुष, युवा भी मतदान को लेकर उत्साहित दिखे। कहीं कहीं पर मतदान की रफ्तार धीमी पडी लेकिन कई जगहों पर तेजी से वोटिंग हुई। मतदान के लिए मतदाताओं की लंबी कतारें देखने को मिली। शाम 5 बजे तक मतदान प्रतिशत 59.37 रहा।

बता दें कि मतदान के बीच ऋषिकेश विधानसभा में हंगामा हुआ। ऋषिकेश में एक बूथ पर भाजपा प्रत्याशी प्रेमचंद अग्रवाल और सीआरपीएफ के जवान की बहस हो गई। वो भी मास्क पहनने को लेकर। जवान ने जब भाजपा प्रत्याशी को मास्क पहनने को कहा तो वह गुस्से में आग बबूला हो गए और हंगामा किया। सीआरपीएफ ने इसकी जानकारी कोतवाली पुलिस को दी। मौके पर पुलिस पहुंची लेकिन तब तक विधायक और उनके समर्थक वहां से जा चुके थे। वहीं सोशल मीडिया पर इस वाक्या की वीडियो भी वायरल हो रही है।

कई लोग सवाल कर रहे हैं कि ये नेता लोग इतने बड़े हो गए हैं कि हमारे देश के जवानों को डांटेंगे. लोगों में गुस्सा है। सीआरपीएफ जवान ने जब विधायक को मास्क लगाने को कहा तो विधायक ने जवान को डांटा और बहस की. जब जवान ने मास्क नहीं लगाने पर टोका तो विधायक उन पर बितर गए। जवान की सिर्फ इतनी गलती थी कि उन्होंने भाजपा प्रत्याशी प्रेमचंद्र अग्रवाल को मास्क पहनने के लिए टोका।

मिली जानकारी के अनुसार सुबह करीब 10;30 बजे भाजपा प्रत्याशी प्रेमचंद अग्रवाल मायाकुंड स्थित नाभा हाउस मतदान केंद्र पर अपने समर्थकों संग पहुंचे। जहां कुछ लोगों की कमरे में अंधेरा होने की शिकायत थी। वहीं प्रेमचंद अग्रवाल ने मौजूद कर्मचारियों से बात की।  इस दौरान वहां मौजूद सीआरपीएफ CRPF जवान ने प्रेमचंद्र को मास्क ना लगाने पर टोका। तो अग्रवाल ने जवान को मास्क ही डांट दिया और गुस्से में कहा कि नहीं लगाता मास्क मैंने तीन बार वैक्सीन लगाइ है और उनके बीच नोकझोंक शुरू हो गई। मामला बढ़ने पर प्रेमचंद अग्रवाल ने सीआरपीएफ जवान को डांटना शुरू कर दिया। जवान की सिर्फ इतनी गलती थी कि उन्होंने भाजपा प्रत्याशी को मास्क लगाने के लिए कहा।

CRPF ने कोतवाली पुलिस को सूचना दी। हालांकि पुलिस की टीम के मौके पर पहुंचने तक भाजपा प्रत्याशी वहां से चल दिए थे। लेकिन साफ तौर पर आज पोलिंग बूथ पर भाजपा प्रत्याशी प्रेमचंद्र अग्रवाल की गुंडागर्दी देखने को मिली। इसे कहते हैं सत्ता का नशा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here