7 साल की मासूम से गैंगरेप, लहूलुहान हालत में खेत में फेंका, फिर आई रोने की आवाज

यूपी से एक बार फिर से दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। जिसने इस घटना के बारे में सुना उनकी रुहं कांप गई। जी हां बता देंकि एक बार फिर से मासूम को हवस का शिकार बनाया गया है। मामला कुशीनगर नेबुआ नौरंगिया थाने के एक गांव का है जहां शुक्रवार की शाम दरिदों ने 7 वर्ष की बच्ची के साथ गैंगरेप को अंजाम दिया और लहूलुहान हालत में बच्ची को गांव के बाहर खेत में फेंक दिया। बच्ची को लहूलुहान हालत में प्राथमिक इलाज बाद बीआरडी मेडिकल कालेज, गोरखपुर रेफर किया गया। वहीं बता दें कि पुलिस ने गांव के ही रहने वाले एक आरोपित को गिरफ्तार किया है औऱ साथ ही बच्ची के बयान के आधार पर दो अन्य आरोपितों की तलाश जारी है।

बता दें कि मामला शुक्रवार शाम का है। जानकारी मिली है कि बच्ची घर के बाहर परिवार वालों के साथ अलाव ताप रही थी। परिवार वाले खाना खाने घर में चले गए। वापस आए तो बच्ची वहां नहीं थी। परिवार वालों ने बच्ची की तलाश की। लेकिन बच्ची नहीं मिली। वहीं अनहोनी की आशंका होने पर परिवार वाले बच्ची की तलाश में गांव के बाहर पहुंचे तो खेत में उसके रोने की आवाज सुनाई दी। वहां खेत में नजारा देख बच्ची के परिजन और गांव वालों की आंखेंफटी की फटी रह गए।

वहीं इसके बाद बच्ची के पिता ने शनिवार की सुबह पुलिस को सूचना दी। एएसपी एपी सिंह, सीओ शिवस्वरूप ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। खोजी श्वान घटनास्थल के नजदीक मिले छोटे तौलिये को सूंघने के बाद गांव की तरफ भागा और एक घर में घुस गया। पुलिस ने वहां मौजूद युवक को हिरासत में लिया तो उसने बताया कि उसका बड़ा भाई हरेंद्र प्रजापति रात में घबराया हुआ घर पर आया था। कपड़े पर खून के निशान थे। एसएचओ पवन सिंह ने हरेंद्र को पास के चौराहे से गिरफ्तार कर लिया। एसपी विनोद कुमार सिंह ने बताया कि गांव के ही एक आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया है। पीड़िता ने फोटो से पहचान की है। अन्य आरोपितों की तलाश की जा रही है। पकड़े गए युवक से भी पूछताछ की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here