भूस्खलन में गई एक ही परिवार के चार लोगों की जान, छाया मातम


उत्तराखंड के चमोली जिले की थराली तहसील के पैनगढ़ गांव में भूस्खलन के बाद पहाड़ से गिरे बोल्डरों से तीन मकान पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए, जिसमें एक ही परिवार के चार लोगों की मौत हो गई, जबकि दो लोग घायल हो गए।

जानकारी के अनुसार चमोली जिले के थराली तहसील के पैनगढ़ गांव में शनिवार सुबह भूस्खलन के बाद पहाड़ी से गिरे बोल्डरों से तीन मकान क्षतिग्रस्त हो गए। इनमें से एक मकान के ऊपर बोल्डर गिरने से एक ही परिवार के चार लोगों की दबने से मौके पर ही मौत हो गई है, जबकि अन्य दो लोग घायल हो गए। घायलों को उपचार के लिए हायर सेंटर रेफर भेज दिया गया है। मौके पर पुलिस, एनडीआरएफ, एसडीआरएफ की ओर से रेस्क्यू अभियान चलाया जा रहा है। घटनास्थल से शवों कों मलबे से बाहर निकाल दिए गए हैं।

मरने वालों में एक ही परिवार के चार लोग शामिल हैं। जिनकी पहचाहन देवानंद 57 वर्ष पुत्र माल दत्त सती, बचुली देवी पत्नी माल दत्त सती 75 वर्ष, घनानंद पुत्र माल दत्त सती 45 वर्ष, सुनीता देवी 37 वर्ष पत्नी घनानंद के रुप में हुई है।

गांव में छाया मातम

घटना के बाद गांव में पसरा मातम, ग्रामीण कर रहे थो दीपावली की तैयारियां। अचानक हुए हादसे की वजह से सदमें में हैं ग्रामीण। काफी संख्या में लोग दीपावली पर अपने गांव पहुंचे हैं। देर रात तक गांव के लोग पटाखे जलाकर जश्न मनला रहे थे, लेकिन शनिवार सुबह करीब 1.45 बजे हुई इस घटना ने गांव सहित पूरी पिंडरघाटी क्षेत्र को शोक की लहर छा गई है।

इस घटना को लेकर ग्रामीणों में शासन-प्रशासन के खिलाफ रोष हैं। ग्रामीणों को कहना है कि वह लंबे समय से विस्थापन की मांग कर रहे हैं, लेकिन शासन-प्रशासन की लापरवाही के कारण आज ग्रामीणों को जान गंवाकर इसका खामियाजा भुगतना पड़ा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here