उत्तराखंड: पूर्व संविदा कर्मचारी ने खाया जहर, इन 9 अधिकारियों को ठहराया जिम्मेदार

 

देहरादून: ऊर्जा निगम के एक संविदा कर्मचारी ने आत्महत्या का प्रयास किया। उसको अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी हालत खराब बताई जा रही है। आत्महत्या करने के दौरान पूर्व संविदा कर्मचारी ने एक वीडियो बनाया है। इस वीडियो में उसने ऊर्जा निगम के कई अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाए हैं। वीडियो वायरल होने के बाद अधिकारियों में भी हड़कंप मच गया है।

मामला ऊर्जा निगम के निरंजनपुर सब स्टेशन से जुड़ा बताया जा रहा है। जानकारी के अनुसार यहां उपनल के माध्यम से बतौर लाइनमैन नियुक्त किए गए बसंत कौशिक ने एक मुख्य अभियंता समेत आठ अधिकारियों पर उत्पीडऩ और भ्रष्टाचार में लिप्त होने का आरोप लगाया था। जिसके बाद कुछ समय पूर्व उक्त कर्मी को नौकरी से निकाल दिया गया। जिसके बाद से वह परेशान था। बीते बुधवार को कर्मचारी ने एक वीडियो बनाया कई लोगों भेज दिया।

वीडियो में उसने मुख्य अभियंता एके सिंह (सेवानिवृत्त), उनकी पत्नी अनुपमा सिंह पर उत्पीडऩ करने का आरोप लगाया है। इसके अलावा अधिशासी अभियंता अनिल मिश्रा, एसडीओ अनुज अग्रवाल, रवि राजोरा, वीके जोशी, जेई सूर्य प्रकाश पोखरियाल और मुस्तकीम अली का नाम भी वीडियो में लिया है। बसंत का कहना है कि उक्त सभी अधिकारियों ने उसे मानसिक रूप से परेशान किया।

साथ ही एसडीओ ने उससे रिश्वत के नाम पर साढ़े छह लाख रुपये भी ऐंठे। बंसत ने वीडियों में उक्त अधिकारियों के उत्पीडऩ से परेशान होकर आत्महत्या करने की बात कही है। साथ ही सभी अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है। वीडियो वायरल होने के बाद से ही ऊर्जा निगम में हड़कंप मचा हुआ है।

बसंत कौशिक को संपर्क करने का प्रयास किया गया तो उसका नंबर स्विच आफ था और वह घर पर भी नहीं मिला। पटेलनगर पुलिस को मिली सूचना के अनुसार श्री महंत इंदिरेश अस्पताल में बंसत कौशिक को बेसुध अवस्था में लाया गया। जहां चिकित्सकों ने बताया कि बसंत ने जहर खाया है और उसकी हालत गंभीर बनी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here