पूर्व CM त्रिवेंद्र पहुंचे गैरसैंण, कहा-ग्रीष्मकालीन राजधानी में आना मेरे लिए सुकून भरा अहसास

गैरसैंण : पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत इन दिनों गढ़वाल भ्रमण पर हैं और उन्होंने 1 लाख पौधे लगाने का संकल्प लिया है। इसी संकल्प को पूरा करने के लिए वो पौड़ी, रुद्रप्रयाग से आज ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैंण पहुंचे और वहां से एक अपनी तस्वीर उन्होंने सोशल मीडिया पर शेयर की है। आपको बता दें कि गैरसैंण की ये फोटो शेयर करते हुए पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत ने लिखा कि ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैंण’ में आना मेरे लिए सुकून भरा अहसास होता है। इससे पहले एक और फोटो शेयर करते हुए उन्होंने लिखा कि ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैंण जाते समय आज आदिबद्री के दर्शन किए व भगवान विष्णु से सभी के मंगल की कामना की। आपको बता दें कि अपने इस भ्रमण के दौरान गैरसैंण से पहले पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत रुद्रप्रयाग, कर्णप्रयाग,पौड़ी, श्रीनगर के धारी देवी के मदिंर भी गए और उसके पश्चात पीपल एवं बरगद के वृक्ष रोपे गए। । साथ ही लोगों से मिलकर उनकी समस्या जानी।
जिला रुद्रप्रयाग में पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत बहुप्रतिभा की धनी 12 वर्षीय नन्ही बिटिया ख्याति सेमवाल से मिले और उसको आशीर्वाद देकर बिटिया का उत्साहवर्धन किया। पूर्व सीएम ने लिखा कि ज्ञान का भंडार ख्याति बिटिया के उज्ज्वल भविष्य की मां धारी देवी से मंगल कामना करता हूं।इसके बाद पूर्व सीएम कर्णप्रयाग के सिमली में गए और वहां महिला बेस अस्पताल का निरीक्षण कर अस्पताल के प्रांगण में पीपल का पौधा लगाया।
इससे पहले पूर्व सीएम पौड़ी के कोट ब्लॉक स्थित फलस्वाड़ी गांव में पहुंचे और हरेला महोत्सव में स्थानीय विधायक मुकेश कोली की उपस्थिति में कार्यकर्ताओं व स्थानीय जनता ने बढ़-चढ़कर कर पीपल व बरगद के वृक्ष रोपे। साथ ही कलेक्ट्रेट पौड़ी में भ्रमण एवं नवनिर्मित बार एसोसिएशन भवन का स्थानीय विधायक मुकेश कोली की उपस्थिति में लोकार्पण किया। अधिवक्ता हर किसी का होता है, और वे न्याय की लड़ाई लड़ते हैं। गरीब आदमी को समय से न्याय मिले इसके लिए अधिवक्ताओं को आगे आना चाहिये।

May be an image of one or more people and indoor

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here