बाबा रामदेव के पूर्व सहयोगी स्वामी मुक्तानंद का निधन, पतंजलि में शोक की लहर

हरिद्वार। योग गुरु स्वामी रामदेव के साथी स्वामी मुक्तानंद का हार्ट अटैक से निधन हो गया है। इससे पूरे संत समाज और हरिद्वार में शोक की लहर फैल गई है। हरिद्वार पतंजलि योगपीठ में स्वामी मुक्तानंद 66 साल के थे।

मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार की देर रात 9:30 बजे के करीब आकस्मिक निधन हो गया। स्वामी मुक्तानंद जी पतंजलि योगपीठ के कोषाध्यक्ष थे और वे पतंजलि योगग्राम के प्रभारी और बहुत सक्रिय थे। जुलाई 1956 में उनका जन्म पश्चिम बंगाल में हुआ था। संस्कृत से स्नातकोत्तर और विज्ञान और गणित विषय के साथ उन्होंने बीएससी पास की थी। जड़ी-बूटियों का उन्हें विशेष ज्ञान था। शुक्रवार की देर शाम उनकी तबीयत अचानक बिगड़ी और उनकी सांसे उखड़ने लगी, तुरंत उन्हें एंबुलेंस से सिडकुल हरिद्वार स्थित मेट्रो हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार स्वामी मुक्तानंद जी को जड़ी-बूटियों का विशेष ज्ञान था। पतंजलि को जड़ी-बूटी शोध संस्थान बनाने में उनका महत्वपूर्ण योगदान रहा है। उनके निधन पर स्वामी रामदेव, आचार्य बालकृष्ण, राम भरत ने गहरा शोक व्यक्त किया है। उनका अंतिम संस्कार शनिवार शाम को 04:00 बजे कनखल शमशान घाट पर किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here