अंतिम विदाई : गंगोत्री विधायक गोपाल रावत पंचतत्व में विलीन, बेटे ने दी मुखाग्नि

गंगोत्री से बीजेपी विधायक दिवंगत गोपाल रावत आज शुक्रवार को पंचतत्व में विलीन हो गए। परिवार समेत पार्टी के पदाधिकारियों ने नम आंखों से उन्हें अंतिम विदाई दी। सरल स्वभाव के नेता गोपाल रावत कैंसर से जूझ रहे थे। वो कैंसर के इलाज के लिए मुंबई भी गए थे। कुछ दिन वहां इलाज चला। वहीं आज नम आंखों से पार्टी, परिवार और क्षेत्र के लोगों ने दि. विधायक गोपाल रावत को पार्टी झंडे के साथ विदाई दी।

आपको बता दें कि गंगोत्री विधानसभा विधायक गोपाल रावत का बीते दिन गुरुवार दोपहर को देहरादून स्थित गोविंद अस्पताल में निधन हो गया था. विधायक गोपाल रावत बीते 4 महीने से कैंसर की बीमारी से जूझ रहे थे. देर रात गोपाल रावत का शव उत्तरकाशी उनके आवास पर लाया गया। शुक्रवार सुबह उनके आवास पर भारी बारिश में भी लोगों का हुजूम उमड़ा। लोग श्रद्धांजलि देने भारी संख्या में पहुंचे। पार्टी के नेता सेलेकर क्षेत्रीय लोगों ने उनके नाम के जयकारे लगाए। उनके आवास से केदारघाट तक दिवंगत विधायक गोपाल रावत की पार्थिव शव की यात्रा पार्टी झंडे के साथ निकाली गई.केदारघाट पर यमुनोत्री विधायक केदार रावत समेत प्रतापनगर विधायक विजय सिंह पंवार, पूर्व विधायक विजयपाल सजवाण, डीएम मयूर दीक्षित और एसपी मणिकांत मिश्र ने दिवंगत विधायक को पुष्पांजलि अर्पित की. केदारघाट पर पुत्र आदित्य रावत ने पिता गोपाल रावत को मुखाग्नि दी तो वहीं, अपने नेता की अंतिम यात्रा में स्थानीय लोगों ने पुष्पवर्षा कर श्रद्धांजलि दी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here