14 फरवरी : जब रो पड़ा था पूरा देश, पुलवामा में हुए हमले में देश ने खोए थे 40 बहादुर जवान, बिखरी लाशों की तस्वीर….

आज जम्मू कश्मीर में हुए पुलवामा हमले की तीसरी बरसी है.आज ही के दिन 14 फरवरी 2019 को जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग से करीब 2500 जवानों को लेकर 78 बसों में सीआरपीएफ का काफिला गुजर रहा था. सड़क पर उस दिन भी सामान्य आवाजाही थी. किसी को अंदेशा नहीं था कि भयंकर घटना होने वाली है और देश को आघात पहुंचने वाला है।

बता दें कि सीआरपीएफ का काफिला पुलवामा पहुंचा ही था, तभी सड़क की दूसरे तरफ से आ रही एक कार ने सीआरपीएफ के काफिले के साथ चल रहे वाहन में टक्‍कर मार दी. जैसे ही सामने से आ रही एसयूवी जवानों के काफिले से टकराई, वैसे ही उसमें विस्‍फोट हो गया. इस घातक हमले में सीआरपीएफ के 40 बहादुर जवान शहीद हो गए. देश भर में उस पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगे। लोग खूब रोए।

धमाका इतना जबरदस्त था कि कुछ देर तक सब कुछ धुआं-धुआं हो गया. जैसे ही धुआं हटा, वहां का दृश्य इतना भयावह था कि इसे देख पूरा देश रो पड़ा. उस दिन पुलवामा में जम्मू श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर जवानों के शव इधर-उधर बिखरे पड़े थे. चारों तरफ खून ही खून और जवानों के शरीर के टुकड़े दिख रहे थे. जवान अपने साथियों की तलाश में जुटे थे. सेना ने बचाव कार्य शुरू किया और घायल जांबाजों को तुरंत ही अस्पताल ले जाया गया. घटना के बाद पूरे देश में हाहाकार मच गया.

पुलवामा हमले में शहीद हुए 44 जाबांजों को हमारा शत शत नमन..ये बलिदान देश कभी नहीं भूलेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here