उत्तराखंड : हर तरफ बस नींबू की ही चर्चा, यहां चिकन से भी महंगा

 

लोहाघाट: महंगाई आम लोगों की कमर तोड़ रही है। खाने के चीजों के दाम लगातार बढ़ रहे हैं, जिसके चलते लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। सबसे ज्यादा चर्चा नींबू की है। नींबू के दाम इतने बढ़ गए कि लोगों ने नींबू खरीदना ही बंद कर दिया है। लोगों को कागजी नींबू के लिए चिकन से भी ज्यादा दाम चुकाने पड़ रहे हैं। नगर में जहां चिकन के दाम ₹260 प्रति किलो है। वहीं, कागजी नींबू 300 से ₹320 प्रति किलो बिक रहा है।

स्थिति यह है कि रसोई से नींबू पूरी तरह से गायब हो ही गया है। इतना ही नहीं, होटलों से भी नींबू गायब हो गया है। सब्जी के थोक विक्रेताओं का कहना है कि मंडी में ही कागजी नींबू थोक रेट में ₹250 प्रति किलो मिल पा रहा है। फुटकर में 300 से ₹320 रुपये प्रति किलो बिक रहा है।

वहीं, सब्जी के फुटकर व्यापारियों ने कहा कागजी नींबू में बढ़ती महंगाई के कारण उन्होंने कागजी नींबू बेचना छोड़ दिया है। ग्राहक कागजी नींबू के दाम सुनकर सुनकर उल्टे पैर वापस चले जा रहे हैं वही नगर के आम आदमी वह होटल व्यवसायियों ने कहा नगर में कागजी नींबू मुर्गे से भी ज्यादा महंगा बिक रहा है।

इसलिए कागजी नींबू खरीदना सपने के समान हो गया है। लोगों ने कहा गर्मी अपने चरम में है इस वक्त कागजी नींबू की लोगों को व मरीजों को सबसे ज्यादा जरूरत होती है। लेकिन, महंगाई के कारण लोग व मरीज इसे खरीद नहीं पा रहे हैं। लोगों ने सरकार से कागजी नींबू के दामों को नियंत्रित करने की मांग करि लोगों ने कहा अपने जीवन में इससे महंगा कागजी नींबू नहीं देखा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here