देहरादून : उमेश काऊ का कांग्रेस में भी विरोध शुरु, कहा-बिना टिकट की शर्त पर लाया जाए

देहरादून : भाजपा के एक मंत्री और एक विधायक कांग्रेस का दामन थाम चुके हैं। यशपाल आर्य और नैनीताल से भाजपा विधायक और उनके बेटे संजीव आर्य भाजापा छोड़ कांग्रेस में शामिल हो चुके हैं। जिस दिन दोनों पिता-बेटा दिल्ली में थे, खबर आई कि रायपुर से भाजपा विधायक उमेश काऊ भी उनके साथ हैं लेकिन कुछ देर बाद साफ हो गया कि वो भाजपा में ही रहेंगे। उन्होंने खुद बयान दिया कि वो दिल्ली यशपाल आर्य को रोकने गए थे ना की कांग्रेस ज्वॉइन करने।

लेकिन बता दें कि इससे पहले उमेश शर्मा काऊ के खिलाफ भाजपा में कई बगावती सुर छिड़े. उनके अपने ही पदाधिकारी औऱ कार्यकर्ता उनके खिलाफ दिखे. कई बैठकें भी की गई। तब से खबर आने लगी कि वो भाजपा छोड़ कांग्रेस में शामिल होंगे। लेकिन बता दें कि इस खबर से कांग्रेस कार्यकर्त्ताओं ने भी उमेश काऊ का विरोध शुरू कर दिया है। इसी के तहत सोमवार को एमडीडीए कालोनी स्थित सामुदायिक भवन में रायपुर विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेसी कार्यतर्ताओं ने बैठक की।

कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता डा. आरपी रतूड़ी ने कहा कि चुनाव के नजदीक आते ही बागियों की घर वापसी की चर्चाएं हैं। कहा कि बीजेपी विधायक उमेश शर्मा काऊ के भी कांग्रेस का हाथ थामने की चर्चा है जिसको देखते हुए यह आपात बैठक बुलाई गई। बैठक में पार्टी हाईकमान से अनुरोध किया गया कि ऐसे नेताओं को पार्टी में ना शामिल किया जाए और अगर किया भी जा रहा है तो बिना टिकट की शर्त पर लाया जाए। साथ ही यह भी फैसला लिया गया की रायपुर विधानसभा से हमारे बीच के व्यक्ति को ही टिकट दिया जाए, जिससे कार्यकर्त्ताओं का मनोबल बना रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here