पढ़ाई में नहीं लगता था मन, घर से भागे 2 दोस्त, दिल्ली से सुरक्षित ढूंढ लाई उत्तरकाशी पुलिस

उत्तरकाशी : आज कल के बच्चे एडवांस हो गए हैं। मां बाप से दूर रहकर अपनी मन पसंद जिंदगी जीना चाहते हैं और अगर घर से दूर जाना है तो संघर्ष करना होता है। जिन हाथों में किताब कॉपी पेन पेंसिल होनी चाहिए उन हाथों में मोबाइल फोन है और सिगरेट, शराब के गिलास नजर आते हैं। संगत्ति भी बहुत अहम रोल निभाती है। आजकल के बच्चे परिवार से दूर भाग रहे हैं ताकि अपनी मन पसंद जिंदगी जी सके और मौज मस्ती कर सके लेकिन ये करके वो परिवार के लिए मुसीबत खड़ी कर रहे हैं और इसमे अहम रोल निभाती है पुलिस जो बच्चों को नशे से दूर रहने, भविष्य बनाने पर समय समय पर जागरुक कर रही है।।

बता देंं कि ताजा मामला उत्तरकाशी का है जहा पढ़ाई में मन ना लगने पर दो नाबालिग घर से बिन बताए दिल्ली भाग गए। जब को घर नहीं लौटे तो परिवार ने उत्तरकाशी कोतवाली में शिकायत दर्ज कराई. इसकी सूचना एसपी प्रदीप राय को दी गई। एसपी ने तुरंत बाजार चौकी पुलिस और एसओजी की टीम गठित की और बच्चों की तलाश के लिए दिल्ली भेजा. पुलिस ने भी तत्परता दिखाते हुए दोनों लापता नाबालिगों को दिल्ली से बरामद किया और दोनों को परिजनों को सुपुर्द किया। परिजनों ने उत्तरकाशी कोतवाली पुलिस, एसओजी और बाजार चौकी पुलिस का आभार प्रकट कर भूरी-भूरी सरहाना की।

आपको बता दें कि 31 जनवरी की रात वादी देवी प्रसाद नौटियाल निवासी राणा भवन कोर्ट रोड, थाना कोतवाली उत्तरकाशी और रोशन लाल निवासी आनन्द नगर ज्ञानसू ने कोतवाली उत्तरकाशी पर आकर अपने नाबालिग बेटो क्रमश: रितेश (उम्र-17 वर्ष) औऱ रोहित कुमार (उम्र-17 वर्ष) के घर से बिना बताये कहीं चले जाने और वापस घर न आने की शिकायत दर्ज कराई। तहरीर मिलते ही पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए दोनों के नंबर सर्विलांस पर डाले जिनकी लोकेशन दिल्ली आई।

 इस टीम में बाजार चौकी इंचार्ज उप निरीक्षक सतवीर सिंह के नेतृत्व में एसओजी और पुलिस की एक संयुक्त पुलिस टीम गठित की गई।टीम ने तुरंत कार्यवाही करते हुए मोबाईल लोकेशन ट्रैसिंग के आधार पर पतारसी-सुरागरसी करते हुये 2-3 दिनों के अन्दर दोनों नाबालिग किशोरों को पहाडगंज रेलवे स्टेशन, बंसत रोड, दिल्ली से सकुशल बरामद कर बीते दिन 3 फरवरी को दोनों को को परिजनों के सुपुर्द किया। दोनों बच्चों के परिजनों ने पुलिस का आभार व्यक्त करते हुये भूरी-भूरी प्रसंशा की गई।

दोनो किशोरों ने पुलिस को बताया कि उनका पढ़ाई-लिखाई में मन नहीं लगता जिस कारण वह नौकरी की तलाश में घर से भाग गये थे।

बरामद करने वाली पुलिस टीम-
1-उप निरीक्षक सतवीर सिंह-चौकी प्रभारी बाजार उत्तरकाशी
2-कानि0 दीपक चौहान-चौकी बाजार उत्तरकाशी।
3-कानि0 ओसाफ खान-एसओजी उत्तरकाशी।
4-कानि0 दीपक चौधरी-एसओजी उत्तरकाशी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here