लखीमपुर में किसानों के साथ हुए हादसे को लेकर उत्तराखंड में आक्रोश, धरने पर बैठे किसान

किच्छा : उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के कार्यक्रम से पहले बड़ा बवाल हो गया है। उपमुख्यमंत्री को काले झंडे दिखाने के लिए जमा हुए किसानों से पहले पुलिस और भाजपा कार्यकर्ताओं की झड़प हुई। इसी दौरान भाजपा नेताओं की गाड़ियों से कुछ किसान कुचले गए। जिसमें दो की मौत हो गई और कई घायल हो गए। इससे आक्रोशित किसानों ने कई गाड़ियों में आग लगा दी और भाजपा नेताओं को भी जमकर पीटा भी। वहीं भारतीय किसान यूनियन ने ट्वीट कर कहा कि गाड़ी से रौंदने के कारण तीन किसानों की मौत हुई है।
रविवार को डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य लखीमपुर खीरी को 117 करोड़ की सौगात देने आए थे। इस दौरान उन्होंने 165 परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण भी किया। इसके बाद डिप्टी सीएम केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र टेनी के गांव की ओर रवाना हो गए। बताते हैं कि इस रोड पर पहले से भारी संख्या में किसान मौजूद थे। सड़क पर मौजूद किसान कृषि कानून का विरोध कर रहे थे। आरोप है कि इस बीच भाजपा का झंडा लगी गाड़ियों की चपेट में कुछ किसान आ गए,जिससे किसान बुरी तरह जख्मी हो गए। हादसा होते देख अन्य किसान आक्रोशित हो गए। इसके बाद किसानों ने बवाल काट दिया।

नाराज किसान ने भाजपा नेताओं को गाड़ियों से निकाल-निकालकर जमकर पीटा और उनकी दो गाड़ियों में तोड़फोड़ कर डाली। किसानों का गुस्सा इस पर शांत नहीं हुआ तो उन्होंने कुछ गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया। आक्रोशित किसानों को देखकर डिप्टी सीएम रास्ते से ही वापस लौट गए। इधर बवाल की सूचना मिलते पुलिस मौके पर पहुंची और किसानों को गन्ने के खेत में खदेड़ दिया। हालांकि हालात को काबू करने के लिए अतिरिक्त फोर्स मंगाई गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here