धामी मंत्रिमंडल की बैठक खत्म, 20 प्रस्तावों पर लगी मुहर, बेरोजगारों को बड़ी सौगात

देहरादून : दो श्याम धनी मंत्रिमंडल की कैबिनेट बैठक खत्म हुई। इस कैबिनेट में 21 प्रस्ताव आए जिसमे से20 प्रस्तावों पर मुहर लगी। इस कैबिनेट में मलिन बस्तियों में रहने वाले लोगों को धामी सरकार ने खुशखबरी दी तो वहीं बेरोजगारों के लिए धामी कैबिनेट बैठक से बड़ी खबर आई है।

इन प्रस्तावों पर लगी मुहर

बंगाली समुदाय के लोगों के जाति प्रमाण पत्र से पूर्वी पाकिस्तानी शब्द हटाए जाने पर कैबिनेट ने मुहर लगाई।

डेयरी विकास नियमावली को मंजूरी मिली।

बदरीनाथ और केदारनाथ के मास्टर प्लान बनाने के लिए डिजाइन का काम करने के लिए कमेटी का गठन किया गया।

उत्तराखंड सरकारी नगर निकाय में मलिन बस्तियों में अतिक्रमण हटाने के लिए 3 साल तक नहीं हटाया जाएगा,कैबिनेट ने 2024 तक अतिक्रमण न हटाने का फैहला लिया।

नर्सिंग विद्यालय बाजपुर में 70 को मंजूरी मिली।

हिमालय गढ़वाल विश्वविद्यालय का नाम महाराज अग्रसेन विश्वविद्यालय किया गया।

विश्वविद्यालय में प्रति विषय पढ़ाने वाले शिक्षकों का मानदेय 25 हजार से 35 हजार किया गया।

उत्तराखंड सिंचाई विभाग मेट में समूह ग के तहत आयोग  भर्ती करेगा।

फ्लोटिंग सोलर पावर प्लान्ट उधमसिंहनगर में लगाने के फैसले को वापस लिया।

उत्तराखंड सेवा अधीनस्थ चयन आयोग में समीक्षा अधिकारी और निजी सहायक की नियमावली को मंजूरी मिली।

जोशीमठ में एसटीपी प्लान्ट के लिए जमीन खरीदने की मंजूरी मिली।

मदिरा की 2021-22 में शराब की जो 25 दुकानें नहीं उठ पाई है,50 प्रतिशत राजस्व के साथ देने पर मंजूरी हुई है।

कोविड 19 की परिस्थितियों को देखते हुए 16 करोड़ 17 लाख की मांग रोडवेज के द्वारा की गई थी,जिसको देने को कैबिनेट ने देने पर मंजूरी दी है।

St, sc के तहत विधवा पेंशन की के लिए आय की सीमा 15 हजार से 48 हजार किया गया,विधवा की पुत्रियों की शादी के लिए आय प्रमाण पत्र में आय की बढो़त्तरी की गयी।

लगभग 5700 करोड़ के अनपुरक बजट को भी कैबिनेट ने मंजूरी दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here