देहरादून का पटेलनगर क्षेत्र बना सेक्स रैकेट के धंधे का अड्डा, 1 महीने में आए 4 केस सामने, गंभीर मामला

देहरादून में आए दिन सेक्स रैकटे का खुलासा हो रहा है। अब तक कई ऑफलाइन और ऑनलाइन चल रहे देह व्यापार के धंधे का देहरादून पुलिस ने खुलासा किया और कइयों को जेल भेजा। अधिकतर मामले देहरादून के पटेलनगर से सामने आए हैं। सवाल ये उठ रहा है कि आखिर पटेलनगर में सेक्स रैकेट के अधिकतर मामले क्यों सामने आ रहे हैं। क्या आऱोपियों को वर्दी का खौफन नहीं है? क्या खाकी वाले इनसे मिले हैं? क्या पुलिस को इन सबकी जानकारी है लेकिन इसको नजरअंदाज कर रही है?

जी हां ये सभी सवाल देहरादून की पटेलनगर पुलिस पर खड़े हो रहे हैं. क्योंकि एक महीने में तीन सेक्स रैकेट का खुलासा  पटेल नगर पुलिस ने किया है। अब इसे पुलिस की कामयाबी कहें कि पुलिस ने खुलासा किया या नाकामयाबी कहें कि क्षेत्र में देह व्यापार का धंधा फलफूल रहा है।

पटेलनगर में पकड़े गए देह व्यापार के धंधेबाज

आपको बता दें कि 26 जुलाई 2021 को पटेलनगर कोतवाली पुलिस ने देहराखास में दबिश देकर 7 महिलाओं और 6 पुरुषों को आपत्तिजनक हालत में पकड़ा था। वहीं 8 अक्टूबर 2021 को पुलिस ने जीएमएस रोड स्थित स्पा सेंटर में दबिश देकर 1 महिला और पुरुष को आपत्तिजनक हालत में पकड़ा। पुलिस ने स्पा सेंटर की संचालिका को गिरफ्तार किया था। इसी के साथ 9 अक्टूबर 2021 को पुलिस ने बंजारावाला स्थित एक मकान में दबिश देकर कुछ महिलाओं व पुरुषों को आपत्तिजनक हालत में पकड़ा। इस मामले में दो को गिरफ्तार किया गया।

इतना ही नहीं कल 14 नवंबर को भी कोतवाली पटेलनगर पुलिस ने वेबसाइट के माध्यम से अन्तर्राज्यीय स्तर पर चलाये जा रहे देह व्यापार का खुलासा किया था। पुलिस ने पटेलनगर स्थित फ्लैट से देह व्यापार मे लिप्त 11 व्यक्तियों (08 महिला 03 पुरुष) को गिरफ्तार किया था। इसी के साथ फ्लैट से भारी मात्रा मे आपत्तिजनक सामग्री, गिरोह चलाने मे प्रयुक्त 13 मोबाइल फोन, 01 लैपटॉप व वाहन बैगनार कार को किया बरामद। देहरादून से विभिन्न पर्यटन स्थलों औ अन्य राज्यों में ये लोग देह व्यापार का संचालन करते थे.

देहरादून और पटेलनगर पुलिस की कार्यप्रणाली पर खड़े हुए सवाल

बड़ा सवाल देहरादून और पटेलनगर पुलिस की कार्यप्रणाली पर खड़े हो रहे हैं कि आखिर देह व्यापार का धंधा इस क्षेत्र में क्यों फलफूल रहा है। आए दिन पटेलनगर से ही ऐसे मामले सामने आ रहे हैं। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि क्या पुलिस से आऱोपी बेखौफ हैं या पुलिस को जानकारी होने के बावजूद इससे कोई फर्क नहीं पड़ता? या शिकायक के बाद ही पुलिस हरकत में आती है? ना जाने कितने ऐसे फ्लैट, घर, स्पा सेंटर और पार्लर होंगे जहां देह व्यापार का धंधा चल रहा होगा। पुलिस को इस मामले को गंभीरता से लेने की जरुरत है और जांच करने की जरुरत है कि आखिर किन क्षेत्रों में मकान मालिक हैं और नहीं? कहां मकान मालिक ने घर किरायेदारों को सौंप रखा है?

पटेलनगर बनता जा रहा है देह व्यापार का हब 

क्योंकि अक्सर ऐसे मामलों में देखा गया है कि मकान मालिक के पीठ पीछे ये काम किया जाता है जिसकी भनक भी मकान मालिक को नहीं होती। या फ्लैटों को किराए पर लेकर इस काम को अंजाम दिया जाता है। एसएसपी को इस मामले को गंभीरता से लेना चाहिए। पटेलनगर देह व्यापार का हब बनता जा रहा है। पुलिस को खास तौर पर पटेलनगर पुलिस को क्षेत्र में मकान मालिकों और किराएदारों के सत्यापन कराने की जरुरत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here