देहरादून : त्रिवेंद्र के खासमखास माने जाने वाले कर्मकार बोर्ड के ‘शमशेर’ की छुट्टी, हरक की जीत

उत्तराखंड भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष शमशेर सिंह सत्याल की बोर्ड से छुट्टी कर दी गई है जिसे हरक सिंह रावत की जीत मानी जा रही है। वहीं बता दें कि शासन ने बोर्ड का पुनर्गठन भी कर दिया है। सचिव श्रम हरबंस सिंह चुघ को बोर्ड के अध्यक्ष और पीसीएस डॉ अभिषेक त्रिपाठी को सचिव की जिम्मेदारी सौंपी गई है। वहीं शमशेर की छुट्टी के बाद अब दोनों के बीच रार खत्म होती दिखाई दे रही है।

आपको बता दें कि कर्मकार कल्याण बोर्ड और उसके अध्यक्ष शमशेर सिंह पिछले साल अक्टूबर में तब सुर्खियों में आया, जब तत्कालीन त्रिवेंद्र सरकार ने बोर्ड के अध्यक्ष की जिम्मेदारी देख रहे श्रम मंत्री डॉ हरक सिंह रावत से ये जिम्मेदारी वापस ले ली और ये जिम्मा शमशेर सत्याल को सौंप दी। तभी से हरक सिंह रावत की त्रिवेंद्र रावत और शमशेर सत्याल से जंग छिड़ी हुई दिखी जो कहीं ना कहीं साफ नजर आई। फिर वो जंग चाहे जुबानी हो या फिर चुनाव के मैदान में।

आपको बता दें कि शमशेर सिंह सत्याल तत्कालीन सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत के करीबी माने जाते हैं जिसको त्रिवेंद्र रावत ने अपने कार्यकाल में अध्यक्ष बना दिया गया। तभी से कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत और त्रिवेंद्र-सत्यास से जंग छिड़ी हुई है।यही नहीं, बोर्ड को लेकर सत्याल और श्रम मंत्री भी एक-दूसरे के खिलाफ मुखर थे। इस बीच बोर्ड का मामला हाईकोर्ट में भी पहुंच गया। इस सबके चलते सरकार की किरकिरी हो रही थी। आखिरकार, धामी सरकार ने बोर्ड से सत्याल को हटाने का निर्णय लिया। श्रम मंत्री हरक सिंह रावत ने सत्याल को हटाए जाने की पुष्टि की।

शमशेर की छुट्टी से जिससे कहीं ना कहीं दोनों के बीच जंग कम जरुर होगी लेकिन ये देखने वाली बात होगी कि ये जंग और नाराजगी खत्म हो गई या ये अभी भी जारी रहेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here