बस वो एक 20 सैकेंड की वीडियो कॉल और आप हो जाएंगे ब्लैकमेलिंग का शिकार : अजय सिंह

देहरादून। उत्तराखंड में साइबर ठगी के साथ-साथ नई तरीके से किए गए साइबर अपराध के मामलों में बढ़ोतरी हो रही है. एक वीडियो कॉल से अब तक जिंदगी तबाह हो गई है। बता दें कि ठगों ने अब ठगने का नया तरीका अपनाया है। जी हां बता दें कि एक वीडियो कॉल कईयों की जिंदगी बर्बाद कर चुकी है जिसमें एक लड़की न्यूड वीडियो कॉल करती है और बस फिर कुछ ही सेकंड बाद होता है ब्लैक मेलिंग का सिलसिला जारी। बीते दीनों युवा कांग्रेस नेता हरीश रावत इसका शिकार हुए थे उन्होंने एसपी को शिकायत भी की थी।

5 सैंकेंड से लेकर 20 सैकेंड के बीच स्क्रीन पर दिखने वाली तस्वीर को आप जब तक समझेंगे तब तक आप साइबर वारदात के शिकार हो चुके होंगे। वीडियो कॉल में आपको एक न्यूड महिला नजर आएगी और बस इसके कुछ सैकेंड बाद आप होंगे ब्लैक मेलिंग का शिकार। इसके बाद आपको न्यूड फोटो भेज कर ब्लैकमेल किया जाएगा और आपसे पैसे की डिमांड की जाएगी। ऐसे अब तक कई मामले सामने आ चुके हैं जिसने नेता तक इसके शिकार हो चुके हैं।

5 से लेकर 20 सैकेंड की वीडियो रिकॉर्डिंग आपके लिए बड़ी मुश्किल खड़ी कर सकती है और आपको अच्छी खासी चपत भी लगा सकती है। आपके द्वारा पैसे ना देने पर आपके इस वीडियो को सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी भी दी जा सकती है इसीलिए आपको सतर्क  रहने की जरूरत है।

बता दें कि हाल ही में उत्तराखंड में भी कुछ ऐसे मामले सामने आए हैं, जिसमें पीड़ित के फेसबुक पर एक लड़की की फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी। फोटो देखकर आकर्षित हुए पीड़ित ने भी बिना जाने पहचाने रिक्वेस्ट एक्सेप्ट कर ली। वीडियो रिकॉर्डिंग के बाद ब्लैकमेलिंग शुरू कर दी ।फिर कुछ ही दिनों में दोनों के बीच मैसेंजर पर चैट होनी शुरू हो गई। बातों ही बातों में लड़की ने उससे फोन नंबर मांग कर वीडियो कॉल पर बात करने की गुजारिश की।पीड़ित ने नंबर दिया और जब वीडियो कॉल आया तब सब कुछ खत्म हो गया।

दरअसल, लड़की ने फोन किया और उस दौरान सामने सब कुछ न्यूड चल रहा था। पीडि़त कुछ समझ पाता तब तक रिकॉर्डिंग हो चुकी थी ।उसके बाद ब्लैकमेलिंग का खेल शुरू हो गया। अलग-अलग नंबरों से कॉल कर पैसे मांगते हैं। पीडित ने बताया कि वीडियो कॉल के बाद अलग अलग लोगों के कॉल आए और पैसे ट्रांसफर करने को कहा। पैसे ना देने पर वीडियो को सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी दी गई और साथ ही परिजनों को भी भेजने की बात कही गई। आईपीएस अजय सिंह ने लोगों से अपील की है कि ऐसे वीडियो कॉल से बचें और तुरंत ऐसे मामलों की जानकारी पुलिस को दें।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here