क्रिकेट के गुरु द्रोण तारक सिन्हा का निधन, शोक में डूबे ऋषभ पंत, मानते थे पिता

भारतीय क्रिकेट टीम को एक से बढ़कर एक बड़े स्टार खिलाड़ी देने वाले कोच तारक सिन्हा का शनिवार सुबह निधन हो गया। जानकारी के मुताबिक 71 साल के इस दिग्गज को ने सुबह 3 बजे आखिरी सांस ली। लंबे समय से वह बीमार थी और उनका इलाज चल रहा था। तारक से क्रिकेट के गुण सीखने वाले दर्जनों खिलाड़ियों ने देश के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट खेला जबकि 100 से ज्यादा ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में अपनी पहचान बनाई। रिषभ पंत के करियर को संवारकर उनको स्टार बनाने वाले तारक के निधन की खबर शनिवार सुबह आई। अपने गुरू के चले जाने की खबर मिलने के बाद से रिषभ पंत समेत तमाम पूर्व क्रिकेट और मौजूदा सक्रिय खिलाड़ी शोक में हैं।

तारक सिन्हा ने टीम इंडिया को दिए दर्जनों स्टार क्रिकेटर

दिल्ली में सोनेट क्लब नाम से क्रिकेट अकादमी चलाने वाले तारक ने भारतीय क्रिकेट टीम के एक से बढ़कर एक बड़े सितारे दिए। सोनेट क्लब की 1969 में स्थापना करने वाले तारक करीब 72 साल के थे। भारतीय महिला टीम के भी कोच रह चुके तारक को 2018 में द्रोणाचार्य अवार्ड से नवाजा गया था। उनसे क्रिकेट का ककहरा सीखने वाले खिलाड़ियों की लिस्ट लंबी है। मौजूदा दौर में भारतीय विकेटकीपर रिषभ पंत हैं जिन्होंने तारक के शिक्षा ली।

इसके अलावा भारत की तरफ से खेल चुके सुरिंदर खन्ना, रंधीर सिंह, रमन लांबा, मनोज प्रभाकर, अजय शर्मा, केपी भास्कर, अतुल वासन, आशीष नेहरा, संजीव शर्मा, आकाश चोपड़ा, शिखर धवन ऐसे धुरंधर हैं जिन्होंने तारक के यहां कोचिंग ली थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here