निगम पार्षद गीता रावत को CBI ने रिश्वत लेते रंगे हाथों किया गिरफ्तार

दिल्ली : दिल्ली में आम आदमी पार्टी से बड़ी खबर है। बता दें कि पूर्वी  दिल्ली के वार्ड नंबर 217/10ई वेस्ट विनोद में नगर निगम आम आदमी पार्टी की पार्षद गीता रावत को सीबीआई ने रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है. जानकारी मिली है कि पार्षद ने मूंगफली वाले के जरिए रिश्वत लेने देने का खेल खेला। इससे आम आदमी पार्टी में सनसनी फैल गई है। इससे चुनाव पर भी असर पड़ सकता है।

मिली जानकारी के अनुसार मूंगफली वाले सनाउल्लाह के पिता को इस बात का पता चला कि उनके बेटे को किसी ने पकड़ रखा है तो वह दौड़ के निगम पार्षद के ऑफिस गए.  वहां जब उन्होंने पूछा कि आपने मेरे बेटे  को क्यों पकड़ा है तो उन्होंने कहा कि हम सीबीआई वाले हैं और अभी आपको पता चल जाएगा कि हमने आपके बेटे को क्यों पकड़ा है। उसके पिता को पता चला कि निगम पार्षद गीता रावत रिश्वत के पैसे सनाउल्लाह के माध्यम से निगम पार्षद गीता रावत के पास जाते थे।

 सीबीआई ने नोटों पर कलर लगा कर मूंगफली वाले को पैसे दिए थे। वहीं पैसे जब गीता रावत को देने गया तो सीबीआई ने रंगे हाथों पकड़ा और नोटों की तलाशी लेने पर वो वहीं नोट मिले. सीबीआई सनाउल्लाह और निगम पार्षद गीता रावत को अपने साथ सीबीआई ऑफिस ले गई।

सीबीआई के मुताबिक, गीता रावत छत बनवाने के एवज में पीड़ित से 20 हजार की डिमांड कर रही थीं। पीड़ित ने सीबीआई से इसकी शिकायत दी, जिसके बाद सीबीआई ने ट्रेप लगाकर पहले एक बिचौलियों को गिरफ्तार किया जिसको पीड़ित ने 20 हजार रुपए दिए थे। ये बिचौलिया काउंसलर के दफ्तर के बाहर एक रेहड़ी लगाता है। सीबीआई के मुताबिक घूस का ये पैसा गीता रावत को बिचौलिये के जरिये पहुंचना था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here