कोरोना का कहर : WHO की नई गाइडलाइन, दिनभर में 5 ग्राम नमक जरूरी

विश्व स्वास्थ्य संगठन यानि WHO ने खाने में नमक को लेकर नई गाइडलाइन जारी की हैं. जिसमें कहा गया है कि स्वस्थ रहने के लिए एक व्यक्ति को दिन में केवल 5 ग्राम नमक ही खाना चाहिए. हालांकि ज्यादातर लोग अपने खाने में इसका दोगुना नमक इस्तेमाल करते हैं. आइये जानते हैं स्वास्थ्य के लिए नमक कितना जरूरी है.

सोडियम और पोटैशियम का बैलेंस जरूरी

WHO ने पूरी दुनिया में सोडियम लेवल को लेकर एक ग्लोबल सोडियम बेंचमार्क फॉर सोडियम लेवल इन फूड तैयार किया है इसमें लोगों की जान बचाने के लिए 60 से ज्यादा फूड कैटेगरी को शामिल किया गया है. इन फूड्स में सोडियम को लेकर नए मानदंड बनाए गए हैं. अनुमान है कि इससे 2025 तक विश्व में नमक की खपत 30 प्रतिशत कम हो जाएगी.

दरअसल हमारे शरीर में पोटैशियम और सोडियम का संतुलित मात्रा में होना जरूरी है. अगर बॉडी में कम पोटैशियम के साथ ज्यादा सोडियम जाएगा तो इससे स्वास्थ्य को नुकसान पहुंच सकता है. खाने में ज्यादा नमक इस्तेमाल करने से ब्लड प्रेशर, हार्ट की समस्या और स्ट्रोक पड़ने का खतरा बढ़ जाता है. ज्यादा नमक खाने से हड्डियां भी कमजोर हो जाती हैं.

इन प्रोडक्ट्स से शरीर में तेजी से बढ़ती है नमक की मात्रा

शरीर को फिट रखने के लिए नमक खाना बहुत जरूरी है. हेल्दी प्लाज्मा बनाने और तंत्रिका को स्वस्थ रखने के लिए नमक जरूरी है. लेकिन कई चीजों के खाने से हमारे शरीर में तेजी से नमक की मात्रा बढ़ने लगती है. इसमें प्रोसेस्ड फूड जैसे- पैकेज्ड फूड, डेयरी और मांस प्रोडक्ट्स, प्रोसेस्ड फूड, मसाले और नमकीन में भी नमक ज्यादा होता है.

नमक के फायदे और नुकसान

हमारे शरीर के लिए नमक जरूरी है ये हम सभी जानते हैं. इससे हमारी बॉडी ऐक्टिव रहती है. नमक से हमारा शरीर हाइड्रेट रहता है.  इसके अलावा थायराइड को सही करने में भी नमक मददगार है. जिन लोगों को ब्लड प्रेशर लो होता है उन्हें नमक खाने से आराम पड़ता है. नमक से सिस्टिक फाइब्रोसिस के लक्षणों में भी सुधार आता है. अब बात करते हैं ज्यादा नमक खाने से होने वाले नुकसान की. ज्यादा नमक से हार्ट की बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है. अत्यधिक मात्रा में नमक का सेवन करने से स्ट्रोक, हाई बीपी और किडनी के रोग होने की संभावना बढ़ जाती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here