हरीश रावत को बताया भस्मासुर, कांग्रेसियों में सिरफुटौव्वल जारी

CONGRESS SCREEN SHOT

 

उत्तराखंड कांग्रेस में सबकुछ ठीकठाक नहीं चल रहा है। संगठन को नया कप्तान और विधायकों को सदन में नया नेता मिलने के बाद अब गुटबाजी सोशल मीडिया में दिखने लगी है। हालात ये हैं कि कांग्रेस के कई बड़े नेताओं को लेकर भी विवादित टिप्पणियां लिखी जा रहीं हैं।

 

ऐसी ही एक पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। इस पोस्ट को फेसबुक पर लिखा गया है गिरीश चंद्रा नाम के अकाउंट से।

इस पोस्ट में इशारों इशारों में यशपाल आर्य को निशान बनाया गया है। पोस्ट में एक टाइमलाइन का जिक्र है जो कुछ इस तरह से है –

2012 – 2017 में कांग्रेस सरकार में कैबिनेट मंत्री

16 जनवरी 2017 – बेटे के टिकट की गारंटी पर कांग्रेस से बगावत, बीजेपी में शामिल

2017 – 2022 – बेटे के टिकट की गारंटी पर बीजेपी छोड़ कांग्रेस में वापसी

2022 – नेता प्रतिपक्ष

इसके साथ ही कांग्रेस प्रभारी, पर्यवेक्षक को पैसों का दलाल बताते हुए सवाल पूछा गया है।

यही नहीं, गिरीश चंद्रा के फेकबुक अकाउंट से ही एक और पोस्ट लिखी गई है जिसमें हरीश रावत को भस्मासुर बताया गया है।

लिखा गया है कि पहले पैसों की हवस में कांग्रेस की जिताऊ सीटों को बेचा गया और अब नेता प्रतिपक्ष का पद भी करोड़ों में बेच डाला।

गिरीश चंद्रा की इन फेसबुक पोस्ट्स को उत्तराखंड कांग्रेस के प्रदेश के एक पदाधिकारी विशाल मौर्या ने शेयर भी किया है और पोस्ट पर हैरानी जताई है।

हालांकि इस पोस्ट को शेयर करने के बाद उनकी पोस्ट पर कई कमेंट्स आ रहें हैं। कोई गिरीश को पार्टी से निकालने की बात कर रहा है तो किसी की राय है कि प्रीतम सिंह के नेतृत्व में चुनाव लड़ते तो सरकार बनाते।

फिलहाल कांग्रेस की कलह सोशल मीडिया पर सार्वजनिक होती दिख रही है। पार्टी के बड़े नेता भले ही पार्टी में एकजुटता का दावा करें लेकिन जो कुछ सोशल मीडिया में दिख रहा है उससे उनके दावे सवालों के घेरे में हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here