UKSSSC में भ्रष्टाचार का आरोप, कांग्रेस ने किया सचिवालय के बाहर धरने का ऐलान

bhuvam kapri

 

उत्तराखंड में कांग्रेस ने फिर एक बार UKSSSC में भ्रष्टाचार के आरोप लगाए हैं। विधानसभा में उपनेता प्रतिपक्ष भुवन कापड़ी ने कहा है कि सरकार से विपक्ष ने सीबीआई जांच की मांग की थी पर कोई नतीजा नहीं निकला। भुवन कापडी ने कहा कि राज्य में सभी विभागों में हो रही भर्तियों में भारी अनियमितता तथा भ्रष्टाचार के साथ ही अपनों को रेवडी बांटने का काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड लोक सेवा आयोग द्वारा सरकारी विभागों में की जाने वाली भर्तियों में भारी अनियमितता व भ्रष्टाचार हुआ है।

देहरादून स्थित कांग्रेस के प्रदेश मुख्यालय में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में भुवन कापड़ी ने सरकार पर पुलिस भर्ती प्रक्रिया में पर्वतीय जिलों के साथ पक्षपात करने का आरोप लगाया है। भुवन कापड़ी ने कहा है कि सरकार ने पुलिस भर्ती में जिलों की जगह प्रदेश स्तर पर मेरिट बनाने का फैसला किया है। इससे पर्वतीय जिलों के अभ्यर्थियों को मुश्किल होगी। परिक्षाओं में भी अधिकतर सवाल ऐसे पूछे जाते हैं जिनमें मैदानी जिलों के अभ्यर्थियों का पलड़ा भारी पड़ेगा।

भुवन कापड़ी ने आरोप लगाया है कि पुलिस भर्ती परीक्षा में किसका चयन होगा और किसका नहीं ये पहले ही तय हो चुका है। 90 फीसदी लाने वाले ठगे जाएंगे और उनसे कम अंक लाने वाले आगे बढ़ जाएंगे।

उत्तराखंड। ऐसा है शिक्षा विभाग, टीचर की मौत के चार साल बाद किया ट्रांसफर

इसी प्रकार राज्य के उच्च शिक्षा विभाग द्वारा अपने चहेतों को लाभ पहुंचाने तथा भ्रष्टाचार की नीयत से राजकीय महाविद्यालयों में सहायक प्रवक्ता के पदों पर भर्तियों हेतु ऑल इण्डिया लेबल पर आवेदन आमंत्रित कर लिखित परीक्षा के स्थान पर मैरिट बेस पर की जा रही है। उन्होंने कहा कि चयन आयोग की 2016-17 की भर्तियों में हुए अनियमितता तथा घोटाले की जांच रिपोर्ट अभी तक सार्वजनिक नहीं की गई है।

भुवन कापडी ने यह भी आरोप लगाया कि लोक सेवा आयोग द्वारा ली जा रही पीसीएस परीक्षा के प्रश्न पत्र में उत्तराखण्ड राज्य से सम्बन्धित मात्र 15 से 20 सवाल पूछे जा रहे हैं ऐसी स्थिति में उत्तराखण्ड राज्य में सेवा दे रहे अधिकारी राज्य की भौगोलिक परिस्थितियों से अनभिज्ञ होते हैं। देश के अन्य राज्यों जैसे राजस्थान पीसीएस परीक्षा में राज्य से सम्बन्धित 50 से 55 प्रश्न, हिमाचल प्रदेश पीसीएस परीक्षा में 40 से 50 प्रश्न तथा झारखण्ड में स्थानीय प्रश्नों का अलग से पेपर दिया जाता है। कांग्रेस की मांग है कि उत्तराखण्ड पीसीएस परीक्षा में भी राज्य से सम्बन्धित कम से कम 50 प्रश्न अनिवार्य रूप से होने चाहिए।

भुवन कापड़ी ने ऐलान किया है कि वो 19 जुलाई को सुबह साढ़े दस बजे सचिवालय के बाहर धरना देंगे। इस दौरान उनके साथ अन्य कांग्रेसी नेता भी रहेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here