ब्रेकिंग: यूपी में युवक की हत्या, उत्तराखंड में पुलिस की ताबड़तोड़ छापेमारी

रुद्रपुर: पिछले दिनों यूसी में रुद्रपुर रोड़ पर एक युवक की गोलियों से भूनकर सरेराह एक युवक की हत्या कर दी गई थी। इस हत्या के बाद से यूपी पुलिस लगातार हत्या के आरोपियों की तलाश में दबिश दे रही है। इस बीच पुलिस को सूचना मिली कि आरोपी यूपी की सीमा से लगे रुद्रपुर शहर में हो सकते हैं, जिसके बाद पुलिस ने रुद्रपुर में आकर छापेमार की।

उत्तर प्रदेश की बिलासपुर पुलिस ने रुद्रपुर के भदईपुरा के साथ ही कई अन्य संदिग्ध ठिकानों पर भी दबिश दी। नैनीताल हाईवे पर रविवार दोपहर बाइक सवार बदमाशों ने सिंह कालोनी बिलासपुर, रामपुर निवासी संदीप सिंह दीपू पुत्र बलदेव सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इस दौरान संदीप के साथ उसकी मां भी थी। सूचना पर यूपी पुलिस के साथ ही सीओ रुद्रपुर अभय सिंह भी पुलिस टीम के साथ पहुंच गए।

हत्या के बाद बिलासपुर पुलिस ने मृतक की मां चरनजीत कौर की तहरीर पर बलराज उर्फ बबलू निवासी कौशलगंज, रामप्रकाश यादव, लल्ला यादव, प्रिंस यादव, विपिन यादव और संजीव मौर्य सहित छह आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी थी। इस दौरान उत्तर प्रदेश पुलिस ने रुद्रपुर के कई संदिग्ध ठिकानों के साथ ही भदईपुरा में भी दबिश दी लेकिन कोई हाथ नहीं आया।

फाइनेंस वाहनों के किश्त समय पर जमा न होने पर एजेंट रिकवरी की कार्रवाई करते हैं। लेकिन, जिले के साथ ही इससे सटे यूपी क्षेत्र में रिकवर एजेंटों के हौसले बुलंद है। बावजूद इसके पुलिस इन एजेंटों पर कोई कार्रवाई नहीं करती है। रविवार को दिनदहाड़े यूपी क्षेत्र में हुई हत्या भी फाइनेंस वाहन की रिकवरी को लेकर बताया जा रहा है। पुलिस के मुताबिक मृतक और नामजद हत्यारोपित एक दूसरे के परिचित थे।

किश्तों की रिकवरी की उनके बीच रंजिश चल रही थी। जिसके चलते संदीप सिंह मारा गया है। मृतक भी फाइनेंस की गई वाहनों की किस्तों की भी रिकवरी करता था। रुद्रपुर की बात करें तो यहां भी फाइनेंस रिकवर एजेंट काफी सक्रिय है। नियम है कि रिकवर के दौरान वह नजदीकी पुलिस थाने या फिर चौकी में सूचना दें। लेकिन वह बिना पुलिस को सूचित किए ही वाहन जबरन ले जाते हैं।

इस दौरान वह लोगों की पिटाई करने से भी बाज नहीं आते हैं। पांच माह पहले बगवाड़ा निवासी युवक ने शिकायत की थी उसकी फाइनेंस में बाइक ली थी। एक किश्त समय पर जमा न करने पर बगवाड़ा में रिकवर एजेंटों ने उसे रोक लिया और उसकी पिटाई कर जबरन बाइक ले गए। इसके अलावा सिडकुल क्षेत्र में भी फाइनेंस रिकवर एजेंटों ने एक व्यक्ति पर हमला कर दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here