देहरादून पुलिस को बड़ी कामयाबी, मुथूट फाइनेंस गोल्ड लोन शाखा में हुई लूट का खुलासा, आरोपी दिल्ली से गिरफ्तार

देहरादून : देहरादून की कोतवाली नगर पुलिस को बड़ी कामयाबी हासिल हुई है। पुलिस ने 20 जनवरी को  कोतवाली नगर क्षेत्रान्तर्गत प्रिंस चौक स्थित मुथूट फाइनेंस गोल्ड लोन में हुई लूट का खुलासा कर दिया है। पुलिस ने इस घटना में शामिल एक आऱोपी को दिल्ली से गिरफ्तार किया है।

आपको बता दें कि 20 फरवरी की रात प्रिंस चौक स्थित मुथूट फाइनेंस गोल्ड लोन शाखा की सुरक्षा में नियुक्त गार्ड को बंधक बनाकर लूट को अंजाम दिया गया था। आरोपियों ने मुख्य चैनल गेट और अन्य तालों को तोड़कर शाखा के स्ट्रांग रूम में घुसकर गैस कटर और अन्य उपकरणों के जरिए काटने की कोशिश की। इस मामले में मुथूट फाइनेंस गोल्ड लोन शाखा प्रिंस चौक के मैनेजर ऋषिपाल सिंह ने थाना कोतवाली नगर पर मुकदमा दर्ज कराया था। एसएसपी ने ऐसे संगठित अपराधों में लिप्त अन्तर्राज्जीय गैंग की धरपकड़ के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये।

आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए टीमें गठित की गई। पुलिस और एसओजी की संयुक्त टीमों ने सभी सम्भावित स्थलों पर दबिश दी और सीसीटीवी खंगाले। इस दौरान 8 मार्च को पुलिस टीम को मुखबिर से सूचना मिली की इस घटना में शामलि गैंग का एक आरोपी चेन्नई से दिल्ली आने वाला है। मुखबिर की इस सूचना पर पुलिस ने घटना में संलिप्त आरोपी इस्तक आलम पुत्र हसीमुदीन निवासी नारायणपुर, पश्चिमी हसनटोला, थाना राजमहल, जिला साहिबगंज झारखण्ड, को बीती रात दिल्ली  के निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन के पास से गिरफ्तार किया। आरोपी से पूछताछ में उक्त घटना में 10 आरोपियों के सम्मिलित होने की जानकारी मिली।

पूछताछ का विवरण

आरोपी इस्तक ने पूछताछ में बताया कि वो झारखण्ड के पांच लोग शाहिद शेख पुत्र सिकन्दर शेख निवासी नारायणपुर पश्चिमी हसनटोला थाना राजमहल जिला साहिबगंज, झारखण्ड 2- असरूद्दीन शेख पुत्र खुर्शीद हाजी निवासी नेकवा टोला थाना राजमहल जिला साहिबगंज झारखण्ड 3- शमीम पुत्र तसरूद्दीन निवासी लक्ष्मीपुर मस्तन नगर थाना राजमहल जिला साहिबगंज झारखण्ड 4- जाकिर सुनार पुत्र नामालूम निवासी नेकवा टोला थाना राजमहल जिला साहिबगंज झारखण्ड और मैं मिलकर ऐसे ही बैंकों, बडी-बडी दुकानों में घुसकर गैस कटरों, गैस सिलेण्डरों व अन्य औजारों के माध्यम से शटर, तिजौरी आदि काटकर लूट डकैती जैसी घटनाओं को अंजाम देते है।

उनके गैंग में कुछ नेपाली युवक भी शामिल हैं। नेपाली युवक हमने इसलिए शामिल किये हैं क्योंकि नेपालियों पर किसी को शक नहीं होता। नेपाली लोग देश के हर कौने मेें चौकीदारी का काम करते हैं और भारत में सभी लोग इन पर विश्वास करते हैं। नेपाली लोग स्थान चिन्हित कर उस स्थान पर चौकीदारी का काम करने के बहाने उस स्थान की पूरी रैकी कर लेते हैं और रैकी करने के बाद वह उनको उस स्थान की पूरी सूचना देते हैं। फिर वो आस पास कमरा लेकर रैकी करते हैं और फिर योजना के अनुसार घटना को अंजाम देते हैं.

आऱोपी ने बताया कि वो इस दौरान सिर्फ व्हाटसएप कॉल से ही बात करते हैं। घटना को अंजाम देने लिए वो वहीं आसपास क्षेत्र में पड़ने वाली किसी दुकान से गैस कटर, ऑक्सीजन सिलेण्डर, पेचकस आदि सामान खरीदते हैं। घटना करने के बाद वो लोकल वाहनों से भाग जाते हैं। हमारा घटना करने का कोई चिन्हित क्षेत्र नहीं है। वो देश के किसी भी कोने पर घटना को अंजाम दे देते हैं। उन्होंने बताया कि वो दिल्ली, मुम्बई और उत्तराखण्ड के बाद अब चेन्नई में घटना करने की योजना बनाए हुए थे जिसके लिए वो चेन्नई गया हुआ था। 20 फरवरी की रात भी हम सभी योजना के अनुसार प्रिंस चौक गोल्ड लोन कंपनी में लूट की कोशिश की लेकिन वो उसके स्ट्रांग रूम को काट नहीं पाये थे।

गैस कटर, ऑक्सीजन सिलेण्डर, पेचकस आदि सामान वहीं छोडकर हम सभी मौके से भाग गये थे। मुथूट फाइनेंस गोल्ड लोन की इस घटना के लिए हमने घटनास्थल के बराबर के एक रिदिम बार में काम करने वाले एक नेपाली गणेश बहादुर को रेकी पर लगाया था, जिसके साथ राम बहादुर भी इस रेकी में शामिल था। इस घटना में इस्तियाक आलम और साहिद हमारे गैंगलीडर, शाहिद और असरूद्दीन शेख हमारे फाइनेंसर तथा शमीम मिस्त्री गैस कटिंग के काम का अच्छा जानकार तथा जाकिर जिसे सोने की अच्छी पहचान है, शामिल थे।

घटना कारित करने व आने जाने का तरीका उक्त गैंग द्वारा घटना करने का कोई निश्चित चिन्हित क्षेत्र न होने के कारण देश के किसी भी कोने पर घटना को अंजाम दिया जाता है। गैंग में शामिल नेपाली लोगों घटना को अंजाम देने का स्थान चिन्हित कर उस स्थान पर चौकीदारी का काम करने के बहाने उस स्थान की पूरी रैकी करते हैं। फिर गैंग के अन्य सदस्यों द्वारा घटनास्थल के आसपास किसी होटल/धर्मशाला में कमरा लेकर वहां रूककर घटना को अंजाम देने की योजना बनायी जाती है तथा फिर मौका मिलने पर गैस कटर व अन्य औजारों के माध्यम से घटना को अंजाम दिया जाता है। ये लोग आपस में मात्र व्हट्स अप कॉल के माध्यम से ही बातचीत करते हैं तथा घटना कारित करने में किसी वाहन का इस्तेमाल न करके घटना को अंजाम देने के लिए घटनास्थल पर अलग-अलग पहुंचकर घटना करने के बाद लोकल वाहनों से भाग जाते हैं। घटना करने के लिए अभियुक्तगण घटनास्थल के आसपास के क्षेत्र में पडने वाली किसी दुकान से गैस कटर, ऑक्सीजन सिलेण्डर, पेचकस आदि सामान खरीद कर घटना को अंजाम देते हैं।

गिरफ्तार अभियुक्त का नाम/पता

इस्तक आलम पुत्र हसीमुदीन निवासी नारायणपुर पश्चिमी हसनटोला थाना राजमहल जिला साहिबगंज झारखण्ड (उम्र 26 वर्ष)

प्रकाश में आये अभियुक्तों के नाम

1- शाहिद शेख पुत्र सिकन्दर शेख निवासी नारायणपुर पश्चिमी हसनटोला थाना राजमहल जिला साहिबगंज झारखण्ड

2- असरूद्दीन शेख पुत्र खुर्शीद हाजी निवासी नेकवा टोला थाना राजमहल जिला साहिबगंज झारखण्ड

3- शमीम पुत्र तसरूद्दीन निवासी लक्ष्मीपुर मस्तन नगर थाना राजमहल जिला साहिबगंज झारखण्ड

4- जाकिर सुनार पुत्र नामालूम निवासी नेकवा टोला थाना राजमहल जिला साहिबगंज झारखण्ड

5- संतोष ऐडी निवासी नेपाल

6- इशोर बहादुर निवासी नेपाल

7- राम बहादुर थापा निवासी नेपाल

8- गणेश बहादुर थापा निवासी नेपाल

9- वीरेन्द्र साउद निवासी नेपाल

बरामद सामान का विवरण

1- चार ऑक्सीजन गैस सिलेण्डर

2- एक गैस एलपीजी सिलेण्डर

3- एक गैस कटर

4- एक रेग्युलेटर

5- एक हथौडी

6- दो सब्बल

7- एक छैनी

8- गैस सिलेण्डर की चाबी

9- दो पेचकस

10- चार आरी

11- गैस पाइप

पुलिस टीम का विवरण

1- कैलाश चन्द्र भट्ट, प्रभारी निरीक्षक, कोतवाली नगर देहरादून

2- कुलवन्त सिंह वरिष्ठ उपनिरीक्षक, कोतवाली नगर देहरादून

3- संजय रावत, चौकी प्रभारी लक्ष्मण चौक, कोतवाली नगर देहरादून

4- संदीप सिंह, चौकी प्रभारी लक्खबाग, कोतवाली नगर देहरादून

5- 849 लोकेन्द्र उनियाल कोतवाली नगर देहरादून

6- कानि0 108 दीपक पंवार

7- कानि0 516 राजेश कुमार

8- कानि0 1119 सुरेन्द्र

9- कानि0 378 प्रदीप

एसओजी टीम

1- खुशी राम पाण्डेय, प्रभारी निरीक्षक, एस0ओ0जी0 देहरादून

2- कानि0 अरशद, एसओजी देहरादून

3- कानि0 आशीष, एसओजी देहरादून

4- कानि0 किरन, एसओजी देहरादून

नोट:- घटना के सफल अनावरण करने वाली पुलिस टीम को पुलिस उपमहानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून महोदय द्वारा 25000/- (पच्चीस हजार) रूपये ईनाम की घोषणा की गयी।*

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here