देहरादून : बिल्डिंग में पुलिस ने मारा छापा, शिफ्ट में चल रही थी सट्टेबाजी, निकला दुबई कनेक्शन

देहरादून : देहरादून की पटेलनगर कोतवाली पुलिस को बडी़ सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने अन्तर्राष्ट्रीय स्तर (दुबई) से संचालित किये जा रहे ऑनलाइन सट्टा गिरोह का खुलासा किया है। पुलिस ने देहराखास पटेलनगर से ऑनलाइन सट्टा संचालित कर रहे 02 आरोपियों को किया गिरफ्तार किया है। साथ ही पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से 02 लैपटॉप, 01 जीओ फाइबर, 6 मोबाईल फोन और अन्य दस्तावेज बरामद किए हैं। साथ ही मुंबई स्थित 02 बैंकों में सट्टा की जमा की गयी धनराशि 15,16,000 (पन्द्रह लाख सौलह हजार रूपये) को भी सीज किया है।

पटेलनगर कोतवाली पुलिस को सफलता 

बता दें कि एसएसपी जनमेजय खंडूरी ने निर्देश पर जिले में अपराधों की रोकथाम के लिए असामाजिक तत्वों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही करने के आदेश दिए गए हैं। इसी के मद्देनजर पटेलनगर कोतवाली पुलिस को सफलता हाथ लगी है। दरअसल पुलिस को सूचना मिली कि काली मंदिर देहराखास के निकट अकेडमी ऑफ क्रिएटिव ट्रैनिंग एंड स्किल नाम की बिल्डिंग के 2nd फ्लोर के भवन के अन्दर कुछ व्यक्तियों द्वारा अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर ऑनलाइन वेब साइट के माध्यम से विभिन्न लोगों को सट्टा खिलवाया जा रहा है।

ऑनलाइन सट्टे का पर्दाफाश

पुलिस को सूचना मिली कि ऑनलाइन के माध्यम से ही रुपयों का लेन-देन किया जा रहा है। इस सूचना पर पुलिस टीम गठित की गई। पुलिस टीम ने काली मंदिर देहराखास के निकट अकेडमी ऑफ क्रिएटिव ट्रैनिंग एंड स्किल की बिल्डिंग के कमरे में दबिश देकर कमरे के अन्दर कई लैपटॉप और मोबाईल फोन बरामद किए। साथ ही ऑनलाइन सट्टा खिलवा रहे दो सटोरी मनीष और प्रकाश सिंह को गिरफ्तार किया गया। दोनों व्यक्तियों के द्वारा अलग-अलग लैपटाप पर Cricketbet9.com वेबसाइट खोलकर महादेव बुक होम पेज में जाकर ग्राहकों को सट्टा खिलवाया जाना पाया गया।

पुलिस ने बरामद किए 6 मोबाइल, मिली कई जरुरी जानकारी

आरोपियों के कब्जे से 06 मोबाईल फोन बरामद हुए जिनमें से एक मोबाइल फोन में 102 रिफिल लिखा होना पाया गया जिससे आरोपियों द्वारा सट्टा लगाने वाले ग्राहकों को वेबसाइट की जानकारी, डैमों व सट्टा लगाने के लिए रूपयों को ऑनलाइन जमा करने की जानकारी व्हट्सअप के माध्यम से दिया जाना पाया गया. दूसरे मोबाईल फोन पर 102 withdrawal लिखा होना पाया गया, जिसका अभियुक्त गणों द्वारा ग्राहक के सट्टा जीतने पर उनके खाते की जानकारी प्राप्त करने व उनकी खातों मे रूपया जमा करने की जानकारी देने के लिये किया जाना पया गया।

मोबाइलों से मिले लाखों रुपये के लेन देन के सुबूत

पुलिस को मोबाइलों से लाखों रुपये के लेन देन के सुबूत मिले। मौके से पुलिस को इंटरनेट कनेक्शन के लिये प्रयोग किया जा रहा जीओ फाईबर भी लगा मिला। पुलिस को कमरे से अन्य दस्तावेज, एक रजिस्टर और एक कॉपी मिली जिसमें सट्टे का लेखाजोखा लिखा होना बरामद हुआ।

24 घंटे में अलग-अलग शिफ्ट में किया जाता था काम

सट्टे का संचालन लगातार 24 घंटे कुल 08 व्यक्तियों द्वारा 6-6 घंटे की शिफ्ट में 02-02 व्यक्तियों द्वारा मिलकर करना पाया गया। इसके अलावा 3 अन्य व्यक्तियों द्वारा मुख्य रूप से उक्त भवन में अपने नियंत्रण में 8 व्यक्तियों से सट्टा का संचालन कराया जाना पाया गया।आरोपियों के दोनों अकाउन्ट मुंबई स्थित बैंकों के होने पाये गये जिनमें जमा सट्टे की धनराशि कुल 1526000 रूपयों को सीज किया गया। दोनों आरोपियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर न्यायालय में पेश किया गया।

पूछताछ में खुलासा

दोनों आरोपियों ने खुलासा किया कि दुबई से एक महादेव बुक नाम की कम्पनी ऑनलाइन संचालित होती है जिसके द्वारा पूरे भारत में लगभग 150 ऑनलाइन सट्टा खिलवाने के सेन्टर चलवाये जा रहे हैं। हमारे सैन्टर का नम्बर 102 है जिसके माध्यम से कई ऑनलाइन वेबसाइट जैसे Skyexchange247.com, Cricketbet9.com, ग्राहकों को उपलब्ध करायी जाती है। वेब साइट में जाकर ग्राहक ऑनलाइन क्रिकेट मैच और कैशीनों में सट्टा लगाते हैं। बताया कि वो ग्राहक को टेलीग्राम ऐप के माध्यम से बाजीगर ग्रुप से महादेव बुक कम्पनी के माध्यम से चलाई जा रही विभिन्न प्रकार की साइट में ऑनलाइन सट्टा लगाने के लिए व्हट्सअप नंबर देते थे।

आऱोपियों ने बताया कि बाजीगर ग्रुप से ग्राहक व्हट्सअप नम्बर लेकर उस नम्बर पर मुझे आईडी चाहिये मैसेज करता है, जिस पर वो हमारे पास मौजूद मोबाइल फोन जिस पर व्हट्सअप पर मैसेज आता है, उसे रिफिल फोन कहा जाता है से ग्राहक को साईटों का डैमो उपलब्ध कराया जाता है । जिस पर ग्राहक साईटों मे जाकर कौन- कौन से गेम सट्टा लगाने के लिये उपलब्ध हैं, देख सकते हैं। ग्राहकों द्वारा साइट पसन्द करने के बाद उनहें पेमेन्ट डिटेल फॉर्मेट में दी जाती है, जिसमे उन्हें हमारे बैंक एकाउन्ट नं., IFSC कोड, UPI आईडी उपलब्ध करायी जाती है।

बताया कि पैसे मिलने के बाद वो ग्राहक को साइट पर जाने के लिये लैपटॉप के माध्यम से साइट में जाकर एक आईडी और पासवर्ड बनाकर देते हैं। ग्राहक द्वारा जितने रुपये भेजे जाते हैं, उन्हें रुपयों के बराबर प्वाईंट साइट में जाकर सट्टा लगाने के लिये दिया जाता है। ग्राहक द्वारा रुपये जीतने पर रिफिल फोन के व्हट्सएप नंबर पर विड्राल चाहिये मैसेज करता है जिसके बाद वो विड्रॉल फोन में चल रहे व्हाट्सएप से ग्राहक को उसके खाते की डिटेल भेजने के लिए एक फॉर्मेट भेजते हैं जिसमे ग्राहक का खाता नंबर, IFSC कोड, UPI नंबर होता है। ग्राहक द्वारा विड्रॉल फोन में ग्राहक की डिटेल प्राप्त होने पर खाते का लेन देन के लिए प्रयोग कर रहे फोन से ग्राहक के खातों में उनकी जीती हुई धनराशि भेज दी जाती है।

चार शिफ्ट में करते हैं काम

बताया कि वो 24 घण्टे यहाँ ग्राहकों को ऑनलाइन सट्टा खिलवाते हैं, जिसके लिये उन्होंने चार शिफ्ट लगा रखी है, एक शिफ्ट मे दो लोग काम करते हैं। बताया कि वो कुल 08 लोग काम करते हैं और 03 अन्य लोग निगरानी करते हैं। बताया कि उनके द्वारा एक दिन में कई लाखों का सट्टा में लेन-देन किया जाता है ।

आरोपियों का नाम पता 
1-मनीष पुत्र जगदम्बा प्रसाद निवासी ले0नं0 9 फेस 2 विद्या विहार थाना पटेलनगर देहरादून उम्र-22 वर्ष
2-प्रकाश सिंह पुत्र दौलत राम निवासी जैन प्लाट वाणी विहार थाना रायपुर देहरादून उम्र -23 वर्ष

आरोपी /वांछित अभियुक्त
1-अनिल उपाध्याय ,2- महादेव रतूडी, 3- रवि ,4- प्रमोद कमल चन्द उपाध्याय 5-अमन , 6- अंकुश, 7- अनमोल ,8- मुकुल ,9- सौरभ, 10- अमित

पुलिस टीम
1- हिमांशु वर्मा सहायक पुलिस अधीक्षक/क्षेत्राधिकारी सदर ।
2- प्रदीप कुमार राणा प्रभारी निरीक्षक कोतवाली पटेलनगर जनपद देहरादून ।
3- कुन्दन राम वउनि कोतवाली पटेलनगर जनपद देहरादून ।
4- उनि विवेक राठी चौकी प्रभारी बाजार थाना पटेलनगर जनपद देहरादून ।
5- कानि 565 राजीव कुमार कोतवाली पटेनलगर जनपद देहरादून ।
6- उ0नि 613 आशीष नेगी कोतवाली पटेलनगर जनपद देहरादून ।
7- कानि 1079 बृजमोहन कोतवाली पटेलनगर जनपद देहरादून ।
8- कानि 370 श्रीकान्त ध्यानी कोतवाली पटेलनगर जनपद देहरादून ।
9- कानि 559 योगेश कोतवाली पटेलनगर जनपद देहरादून ।
10-कानि 458 गोपाल राम कोतवाली पटेलनगर जनपद देहरादून ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here