उत्तराखंड से बड़ी खबर : थम गए रोडवेज बसों के पहिए, ये है बड़ा कारण

 

देहरादून: उत्तराखंड परिहन निगम हड़ताली निगम बनता जा रहा है। निगम में आए दिन कर्मचारी संगठन किसी न किसी मांग को लेकर हड़ताल पर चले जाते हैं। रोडवेज के सामने दिक्कत यह है कि यहां कर्मचारियों की 6-7 अलग-अलग यूनियनें हैं। कभी एक यूनियन का धरना होता है, तो कभी दूसरी यूनियन आंदोलन कर देती है। आ सुबह से ही प्रदेशभर में बसों के पहिए थमे हुए हैं।

रोडवेज कर्मचारी यूनियन की प्रदेशव्यापी हड़ताल के चलते आज राज्यभर में 80 फीसद बसों के पहिये थम गए हैं। पांच माह से लंबित वेतन के भुगतान और अन्य मांगों को लेकर हड़ताली कर्मचारियों ने सुबह 3 बजे से ही बस अड्डों और कार्यशाला के गेट पर पहुंचना शुरू कर दिया था। गेटों पर पहुंचकर यूनियन के कर्मचारियों ने बसों का संचालन रोक दिया।

बसों का संचालन नहीं होने से यात्रियों को दिक्कतों को सामना करना पड़ रहा है। हालांकि निगम ने दूसरे कर्मचारी संगठनों के चालक-परिचालक ड्यूटी पर भेजे गए हैं। लेकिन, उससे कोई खास राहत नहीं मिल पा रही है। कुछ बसों को परिचालक नहीं मिलने के कारण चालक को ही टिकट मशीन थमा दी गई और उनको ही टिकट काटने के लिए कहा गया।

देहरादून, हल्द्वानी और टनकपुर मंडल में दिल्ली समेत लंबी दूरी के लगभग सभी मार्गों पर बसों का संचालन पूरी तरह से ठप है। हालांकि उम्मीद है कि आज दोपहर तक कुछ हल निकल पाएगा। अगर ऐसा नहीं होता है, तो दिक्कतें और बढ़ सकती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here