उत्तराखंड से बड़ी खबर: बारिश का कहर जारी, यहां मलबा गिरने से कई वाहन फंसे, ऐसा रहेगा मौसम

File

देहरादून: राज्य में बारिश का कहर जारी है। बारिश के कारण लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इसके चलते हादसे भी हो रहे हैं, जिनमें कई लोग घायल और कई लोगों की मौत हो गई है। इधर, बारिश से फिलहाल राहत मिलने के आसार नजर नहीं आ रहे हैं। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार देहरादून, पिथौरागढ़ और नैनीताल के कुछ इलाकों में भारी बारिश हो सकती है।

अलर्ट के अनुसार राज्य के बाकी हिस्सों में भी बिजली गिरने के साथ ही तीव्र बौछारें पड़ने की संभावना जताई गई है। बारिश के कारण हाईवे के दोनों तरफ चमोली, गोपेश्वर, जोशीमठ, कर्णप्रयाग, रुद्रप्रयाग, श्रीनगर व देहरादून आने-जाने वाले करीब 50 छोटे-बड़े वाहन फंसे हैं। जेसीबी की मदद से मलबा हटाने का काम शुरू कर दिया गया है।

राजधानी देहरादून में फिलहाल बादल छाए हुए हैं। मूसरी में बारिश हो रही है और घना कोहरा छाया हुआ है। वहीं, अधिकतर इलाकों में बारिश का दौर जारी है। बदरीनाथ और केदारनाथ हाईवे कई जगह मलबा आने से बंद पड़ा हुआ है। कुमाऊं में पिथौरागढ़ हाईवे भी कई जगह बंद है।

रुद्रप्रयाग, यमुनोत्रीघाटी, चमोली, टिहरी और उत्तरकाशी में बुधवार रात से बारिश जारी है। लगातार कई दिनों से हो रही बारिश से ठंड बढ़ गई है। बारिश से बदरीनाथ हाईवे पागलनाला, रड़ांग बैंड, लंगासू,  बाबा आश्रम के पास, कर्णप्रयाग व सिमली के बीच में और चमधार में अवरुद्ध हो गया है। केदारनाथ हाईवे भी सिरोबगड़, मेदनपुर, भटवाड़ीसैंण और सौड़ी में बंद है।

श्रीनगर में सुबह से बारिश जारी है। यहां बदरीनाथ हाईवे का लगभग 10 मीटर पुस्ता भी ढह गया है। टिहरी जिले में 12 ग्रामीण सड़क मार्ग बाधित हो गए हैं। चमोली जिले में 40 संपर्क मार्ग बाधित हैं। जिले में अलकनंदा, नंदाकिनी व पिंडर नदी का जलस्तर फिलहाल खतरे के निशान से नीचे बह रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here