उत्तराखंड से बड़ी खबर: देवभूमि का एक और लाल आतंकी हमले में शहीद

 

हल्द्वानी: मणिपुर इम्फाल के सैलून में आतंकवादी हमले में शहीद असम राइफल के हवलदार रणवीर सिंह रावत का पार्थिव शरीर आज सुबह हल्द्वानी स्थित उनके आवास चांदनी चौक बल्यूटिया पर पहुंचा। शहीद का पार्थिव शरीर घर पहुंचते ही परिवार में कोहराम मच गया। सैन्य सम्मान के साथ अंत्येष्टि की गई।

रणवीर सिंह रावत मूलरूप से चमोली जिले के थाला गांव निवासी हैं। वह 13 असम राइफल की बेम्बो कंपनी में हवलदार थे। उनकी तैनाती सैलून में थी। परिजनों ने बताया कि 27 जनवरी की सुबह इनकी टुकड़ी पेट्रोलिंग करके वापस लौट रही थी। इसी दौरान उग्रवादियों ने टुकड़ी पर हमला कर दिया। मुठभेड़ में रणवीर सिंह को दो गोलियां लगने से गंभीर रूप से घायल हो गए। जहां उनको निधन हो गया।

शहीद रणवीर के बड़े भाई लक्ष्मण सिंह भी असम राइफल में सूबेदार हैं, जो वर्तमान में नागालैंड में तैनात हैं। शहादत का पता चलते ही लक्ष्मण नागालैंड से सैलून पहुँच गए। पोस्टमार्टम के बाद हवाई मार्ग से रणवीर का पार्थिक शरीर दिल्ली लाया गया। वहां से निजी वाहन से पार्थिक शरीर आज सुबह उनके घर पहुंचा। पार्थिक शरीर के घर पहुंचते ही परिवार में कोहराम मच गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here