अफगानिस्तान के पूर्व राष्‍ट्रपति को बड़ा झटका, भाई तालिबान के साथ मिला

अफगानितान में तालिबानियों ने कब्जा कर लिया है। वहां के लोग डर के साए में जी रहे हैं। अफगानिस्तान में राष्ट्रपति वहां से फरार हो गए। तालिबानियों ने बैंक से लेकर हर जगह कब्जा करलिया है। जिससे पूरी दुनिया में सनसनी फैल गई है। अफगानिस्तान के काबुल में कई भारतीय फंसे हुए हैं जिन्हें वापस वतन लाने की कवायद शुरु हो गई है। बता दें कि इस बीच अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति को लेकर बड़ी खबर है।

जी हां बता दें कि अरबों रुपये लेकर अफगानिस्‍तान से फरार हुए पूर्व राष्‍ट्रपति अशरफ गनी को बड़ा झटका लगा है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पूर्व राष्ट्रपति अशरफ गनी के भाई हश्मत गनी अहमदजई तालिबानियों के साथ मिल गए हैं और उन्होंने आतंकियों की मदद करने का वादा किया है। इस दौरान तालिबान के नेता खलील उर रहमान और इस्‍लामिक विद्वान मुफ्ती महमूद जाकिर मौजूद थे। अशरफ गनी इन दिनों परिवार के साथ संयुक्‍त अरब अमीरात में जीवन बिता रहे हैं।

हश्‍मत गनी के तालिबान के साथ मिलने से अशरफ गनी के लिए शर्मनाक स्थिति पैदा हो गई है। इससे पहले ही अशरफ गनी 12 अरब 57 करोड़ रुपए लेकर फरार होने के आरोपों का सामना कर रहे हैं। हालांकि खुद अशरफ गनी ने इन आरोपों का खंडन किया था और कहा था कि वे अपने जूते तक नहीं पहन पाए थे और उन्‍हें अफगानिस्‍तान से जाने के लिए मजबूर होना पड़ा। अशरफ गनी ने बुधवार को एक वीडियो मैसेज जारी करके कहा था कि काबुल को तालिबान ने घेर लिया था और वह रक्‍तपात को रोकने के लिए देश छोड़कर गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here