उत्तराखंड : बैंक भर्ती घोटाले मामले में बड़ा एक्शन, अब उठाया ये कदम

देहरादून: जिला सहकारी बैंक भर्ती घोटाले मामले में कार्रवाई लगातार जारी है। जिला सहकारी बैंको के अधिकारियों के बंपर तबादले किए गए है। ये कार्रवाई बैंको में नियुक्ति के दौरान हुई गड़बड़ी के चलते की गई है। बताया जा रहा है कि कई अधिकारियों के तबादलों के साथ ही कुछ अधिकारियों पर बड़ी कार्रवाई की गई है।

जिसके आदेश जारी कर दिए गए है। यही नहीं कुछ बैंकों के जीएम को मुख्यालय में भी अटैच कर दिया गया है। खास बात यह है कि देहरादून जिला सहकारी बैंक की वंदना श्रीवास्तव का तो सेवा विस्तार ही समाप्त कर उन्हें हटा दिया गया है। मीडिया रिपोर्टस के अनुसार जिला सहकारी बैंकों में असिस्टेंट रजिस्ट्रार पद के अधिकारियों को तबादले के जरिए दूसरे जिलों में तैनाती दी गई है। जिसके आदेश जारी किए गए है।

आदेश के मुताबिक सहायक रजिस्ट्रार हरिद्वार राजेश चौहान को देहरादून, सुरेंद्र पाल को पिथौरागढ़ से हरिद्वार की जिम्मेदारी के लिए भेजा गया है। अल्मोड़ा में तैनात हरिश्चंद्र को चंपावत की जिम्मेदारी दी गई है। वहीं चंपावत के मनोहर सिंह पिथौरागढ़ की जिम्मेदारी संभालेंगे। इसके अलावा पिथौरागढ़, अल्मोड़ा और उधम सिंह नगर इन 3 जिलों के जीएम को मुख्यालय में अटैच कर दिया गया है।

गौरतलब है कि प्रदेश में 2020 में हुई चतुर्थ श्रेणी के पदों पर नियुक्ति को लेकर 3 जिलों के जिला सहकारी बैंकों की जांच के आदेश दिए गए हैं। फिलहाल जांच अधिकारी देहरादून जिले में पिछले 3 दिनों से जांच कर रहे हैं। तो वहीं अब उधम सिंह नगर में जिला सहकारी बैंक की जांच के लिए जाने की भी खबर है। बड़ी बात यह है कि जांच प्रक्रिया चलने के दौरान ही 4 जिलों में डिप्टी रजिस्ट्रार को स्थानांतरित कर दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here