भुवन कापड़ी की मांग, पेपर लीक की हो CBI जांच, आयोग के अध्यक्ष और सचिव को घेरा

BHUVAN KAPRI

 

UKSSSC के सचिव संतोष बड़ोनी को हटाए जाने के बाद अब उत्तराखंड विधानसभा में उप नेता प्रतिपक्ष भुवन कापड़ी ने सवाल उठाए हैं। भुवन कापड़ी ने कहा है कि सचिव को हटाया जाना न्याय संगत नहीं है।

भुवन कापड़ी ने एक बयान जारी कर कहा है कि अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के अध्यक्ष का इस्तीफा देना और सचिव को हटाया जाना ये न्याय संगत नहीं है। दोनों के विरुद्ध कार्यवाही होनी चाहिए। कापड़ी की माने तो और भी जो अधिकारी इसमें सम्मिलित हैं उन पर भी कार्यवाही होनी चाहिए क्योंकि निष्पक्ष भर्ती की जिम्मेदारी जिनको दी गयी थी वहां घोटाला हुआ है। भुवन कापड़ी ने घोटाले की सीबीआई जांच की मांग की है।

भुवन कापड़ी ने कहा है कि उत्तराखंड अधीनस्थ चयन आयोग में स्नातक परीक्षा में हुए घोटाले के खुलासे से स्पष्ट हो गया है कि इससे पूर्व फॉरेस्ट गार्ड भर्ती, ग्राम पंचायत सचिव, ग्राम विकास अधिकारी, एलटी भर्ती सहित कई विभागों की लिपिकीय व चालकों की भर्ती में भी भारी घोटाला हुआ है तथा ये सभी भर्तियां संदेह के घेरे में है।

बड़ी खबर। UKSSSC के सचिव संतोष बड़ोनी हटाए गए, इनको मिली जिम्मेदारी

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी पहले से ही मांग करती आ रही है कि अधीनस्थ सेवा चयन आयोग में हुए भर्ती घोटाले की उच्च स्तरीय जांच करायी जाती है तो इसमें सत्ता प्रतिष्ठान, अधीनस्थ चयन आयोग, सचिवालय, विधानसभा के बैठे कई बड़े चेहरे बेनकाब हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि स्नातक परीक्षा में हुए घोटाले के खुलासे के बाद सबसे पहले जिस व्यक्ति की गिरफ्तारी हुई है वो उसी कंपनी से जुड़ा है जिसने इसी साल विधानसभा चुनावों से पहले विधानसभा सचिवालय के लिए सीधी भर्ती की परीक्षा आयोजित की थी।

भुवन कापड़ी ने कहा कि मामले की जांच तो दूर विधानसभा सचिवालय ने आज तक उस कंपनी का नाम तक सार्वजनिक नहीं किया है। वर्तमान विधानसभा अध्यक्ष द्वारा सीधी भर्ती के परीक्षा परिणाम पर रोक लगाना भर्ती घोटाले की ओर स्पष्ट इशारा करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here