उत्तराखंड: गजब कारनामा, 200 किलोमीटर चली बस, कमाई 20 रुपये

देहरादून: उत्तराखंड परिवहन निगम का हाल किसी से छुपा नहीं है। निगम का ये हाल कुछ हद तक सरकार और उससे कहीं ज्यादा भ्रष्टाचार के कारण हुआ है। बसों के पुर्जे बेचने से लेकर बसों में सवारियों से मिलने वाले किराया भी परिचालक चट कर जाते हैं। ऐसा ही एक और मामला सामने आया है। ऐसा ही एक मामला ऋषिकेश डिपो में देखने को मिला। रोडवेज बस ने 10 पैसे प्रति किलोमीटर के हिसाब से 200 किलोमीटर से ज्यादा की दूरी में महज 20 रुपये कमाए।

बस के 200 किलोमीटर का सफर तय करने में करीब आठ हजार रुपये का डीजल खर्च होता है। बस की अनुमानित कमाई भी करीब 15 हजार रुपये तक होती है। परिवहन निगम ने भी ऋषिकेश से सोनप्रयागत त की बुकिंग 14 हजार रुपये तय की हुई है। लेकिन कोटद्वार डिपो की इस के कंडक्टर ने मात्र 20 रुपये जमा कराए। बाकी पैसा डकार गया।

शनिवार को जब बस यात्रियों को छोड़कर ऋषिकेश वापसी पहुंची तो बस परिचालक ने सोनप्रयाग से ऋषिकेश तक वापसी में कुल आय के तौर पर डिपो में 20 रुपए जमा कराए। किराए के तौर पर बस परिचालक ने मात्र 20 रुपये जमा कराए, जिससे परिवहन निगम के अधिकारी हैरान रह गए। उन्होंने तत्काल मामले के जांच के आदेश दिए।

परिवहन निगम ने इस मामले में चालक और परिचालक को फौरी कार्रवाई करते हुए ऑफरोड कर दिया है। मामले की जांच की जा रही है। जांच के बाद जो भी आवश्यक कार्रवाई होगी, की जाएगी। रोडवेज घाटे में चल रही है। निगम को घाटे से बाहर निकालने के तमाम प्रयास किए जा रहे हैं, लेकिन जिस तरह के मामले सामने आ रहे हैं, उससे इसकी आस कम ही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here