उत्तराखंड : साइबर ठगी का गजब मामला, बिना आवेदन के करा लिया लोन, फिर खाता खाली

हल्द्वानी: साइबर ठग लोगों को हर दिन किसी ना किसी बहाने रोजाना नए-नए तरीकों से चूना लगाते हैं। लोगों की मेहनत की कमाई को कुछ ही सेकेंडों में उड़ा लेते हैं। ऐसा ही एक मामला हल्द्वानी के मुखानी में सामने आया है। यहां युवक की कस्टमर आईडी के माध्यम से उसके खाते में लोन के लिए ऑनलाइन आवेदन किया। जब पीड़ित के खाते में रकम आ गई तो ठग ने उसे फोन कर बताया कि उसने गलती से उनके खाते में रकम ट्रांसफर कर दी है।

इस तरह झांसे में लेकर ठग ने पीड़ित से 3.78 लाख रुपये ठग लिए। पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। ठगों ने यह रकम मोबाइल एप के माध्यम से ट्रांसफर कराई। पुलिस के अनुसार जागृति विहार कॉलोनी छडायल नायक गैस गोदाम रोड निवासी कमल पाण्डे पुत्र स्व. प्रकाश चन्द पाण्डे के साथ यह वाकया हुआ।

कमल के पास बीती 8 जनवरी को एक अज्ञात मोबाइल नम्बर से कॉल आया। उसने कमल से कहा कि गलती से उसके आईसीआईसी बैंक वाले खाते में 3 लाख 78 हजार रुपये आपके खाते में ट्रांसफर हो गए हैं। वह उसे आई मोबाइल एप के माध्यम से उसके खाते में ट्रांसफर कर दें। पीड़ित ने अपना अकाउंट चेक किया तो उसमें नगदी दिखाई दी।

इसी कारण उसने ठग पर भरोसा करते हुए पूरे पैसे उसे ट्रांसफर कर दिए। बाद में कमल को पता चला कि उनके खाते में जो रकम थी, वह उनके खाते से पर्सनल लोन के रूप में ली गई थी। जिसके लिए उन्होंने कभी आवेदन ही नहीं किया था। बैंक ने भी इस संबध कभी कोई कॉल नहीं की।

जांच में सामने आया कि साइबर ठग ने ही पीड़ित की कस्टमर आईडी के माध्यम से उनके खाते से लोन के लिए ऑनलाइन आवेदन किया था। जब पैसा कमल के खाते में आ गया, तो फोन कर पैसा गलती से ट्रांसफर होने का झांसा दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here