आफताब ने कबूला श्रद्धा की हत्या का गुनाह, पॉलीग्राफी टेस्ट में खुला राज

Shraddha Murder caseश्रद्धा मर्डर केस में आरोपी आफताब अमीन पूनावाला ने पॉलीग्राफी टेस्ट में अपना गुनाह कुबूल कर लिया है। आफताब ने पॉलीग्राफी टेस्ट में माना है कि उसने ही श्रद्धा की हत्या की। पॉलीग्राफी टेस्ट में आफताब ने कबूला कि उसने सोच-समझकर श्रद्धा का कत्ल किया और इसके लिए उसे कोई अफसोस नहीं है। आफताब का पॉलीग्राफी टेस्ट करने वाले फॉरेंसिक अधिकारियों के हवाले से यह जानकारी सामने आई है।

पॉलीग्राफी टेस्ट के दौरान आफताब का व्यवहार बिल्कुल समान्य रहा। आफताब ने कहा कि उसने पहले ही पुलिस को सब कुछ बता दिया है। एक पुलिस अधिकारी के मुताबिक उसने कहा कि श्रद्धा की हत्या के आरोप में उसे फांसी भी हो जाए तो अफसोस नहीं होगा, जन्नत में जाने पर उसे हूर मिलेगी। यही नहीं उसने यह भी बताया कि श्रद्धा से रिश्ते के दौरान उसके 20 से अधिक हिंदू लड़कियों से संबंध रहे हैं। पुलिस को दिए उसके इस बयान से आफताब की कट्टर मानसिकता सामने आई है। अब एक्सपर्ट आफताब के पॉलीग्राफी टेस्ट की फाइनल रिपोर्ट बना रहे हैं, रिपोर्ट जांच अधिकारी को सौंपी जाएगी।

1 दिसंबर को होगा नार्को टेस्ट

दिल्ली की एक अदालत ने रोहिणी स्थित विधि विज्ञान प्रयोगशाला (एफएससी) में आफताब के नार्को टेस्ट को अनुमति दे दी। पूनावाला के वकील अबिनाश कुमार ने बताया कि पुलिस ने आरोपी को एक दिसंबर और पांच दिसंबर को रोहिणी स्थित प्रयोगशाला ले जाने की अनुमति दिए जाने का अनुरोध किया था, जिसे अदालत ने मंजूर कर लिया।

पूनावाला (28) पर अपनी ‘लिव-इन पार्टनर’ श्रद्धा वालकर की हत्या करने और उसके शव के 35 टुकड़े करने का आरोप है। आरोप है कि उसने शव के टुकड़ों को दक्षिण दिल्ली में महरौली के अपने घर में करीब तीन सप्ताह तक 300 लीटर के एक फ्रिज में रखा और फिर कई रातों तक उसे शहर के विभिन्न स्थानों पर फेंका।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here