चिट लेकर परीक्षा देने पहुंचा, टीचर्स ने रोका तो बोला, ‘धामी जी का पड़ोसी हूं’

mbpg college in haldwani

 

हल्दवानी में तो गजब ही हो गया। हल्दवानी के एमबीपीजी कॉलेज में परीक्षा देने पहुंचा एक छात्र अपने साथ नकल की सामग्री लेकर गया। जब टीचर्स ने उसे रोका तो छात्र ने कहा, ‘धामी जी का पड़ोसी हूं, समझ लेना’।

 

है न दिलचस्प। दरअसल एमबीपीजी कॉलेज में परीक्षाएं चल रहीं हैं। सुबह की पाली में पॉलिटिकल साइंस का एग्जाम था। छात्र परीक्षा देने पहुंच रहे थे और टीचर्स सभी को चेक कर रहे थे। इसी बीच एक छात्र अपने साथ नकल सामग्री लेकर पहुंचा। टीचर्स ने छात्र को नकल सामग्री के साथ पकड़ लिया। नकल सामग्री पकड़े जाने से छात्र भड़क गया। पहले तो टीचर्स ने उसे शांत कराने की कोशिश की लेकिन छात्र मानने को तैयार नहीं हुआ।

उत्तराखंड। आयोग ने सुधारी एक गलती, 452 परिक्षार्थियों को मिल गया मेंस का मौक

जब टीचर्स भी नहीं माने तो आखिरकार छात्र ने अपना रौब और गांठने की कोशिश की। छात्र बोला, ‘धामी जी का पड़ोसी हूं, समझ लेना’। छात्र को लगा कि ‘धामी जी’ का नाम सुनते ही टीचर्स उसे छोड़ देंगे लेकिन टीचर्स भी कहां मानने वाले। उन्होंने वहीं पर छात्र को और जमकर फटकार लगाई। फिर जब छात्र का रौब कुछ ढीला पड़ा तो उसे एग्जाम के लिए भेज दिया।

 

हैरानी की बात ये कि परीक्षा देने के बाद वो छात्र फिर एक बार पूरे जोश में कॉलेज प्रिंसिपल के पास पहुंच गया। उसने टीचर्स पर अभद्रता करने का आरोप लगाना शुरु कर दिया। हालांकि प्रिंसिपल तक पूरी जानकारी पहुंच चुकी थी। टीचर्स ने भी मजाक मजाक में ‘धामी जी’ का पूरा नाम पूछ दिया। बताते हैं कि छात्र धामी जी का पूरा नाम नहीं बता पाया। बाद में वो गुस्सा होते हुए निकल गया। पूरे दिन कॉलेज के गेट पर घटी ये घटना पूरे कॉलेज में चर्चा का विषय बनी रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here