सनसनीखेज खुलासा। फौजी ने की थी सुहैल की हत्या, बहन पर भद्दे कमेंट्स से था नाराज

sohail murder case in nainital ramnagar

 

रामनगर में पुलिस ने व्यापारी के अपहरण और हत्या के मामले का खुलासा कर दिया है। पुलिस ने इस मामले में एक फौजी को गिरफ्तार किया है। फौजी ने अपनी बहन को लेकर होने वाली टॉन्टबाजी से परेशान होकर इस घटना को अंजाम दिया है।

आपको बता दें कि दो अगस्त को रामनगर का रहने वाला सुहैल सिद्दिकी अपनी दुकान बंद कर मोटरसाइकिल से घर के लिए निकला लेकिन घर नहीं पहुंचा। सुहैल के परिजनों ने इस संबंध में पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने तहकीकात शुरु की तो उसे एक दुकान के बाहर लगे सीसीटीवी में सुहैल की मोटरसाइकिल के एक अल्टो कार से टक्कर के विजुअल मिले। टक्कर के बाद कार सवार सुहैल को कार में डालते भी दिखे। पुलिस के लिए ये एक बड़ा टिप था। पुलिस ने कार का नंबर नोट किया और तहकीकात शुरु की।

कार मालिक की तलाश करते पुलिस हरीश राम तक पहुंची। पुलिस हरीश राम के बेटे और सेना में जवान भरत को उठा लाई और सख्ती से पूछताछ शुरु की। कुछ ही देर में भरत टूट गया और उसने हत्या की जो सनसनीखेज कहानी बयां कि वो पुलिस के भी हैरान करने वाली थी।

दरअसल भरत की बहन और सुहैल का चार साल पहले प्रेम प्रसंग था। भरत की बहन ने सुहैल से शादी के लिए कहा तो उसने मना कर दिया। इस बात से नाराज भरत की बहन ने सुसाइड कर लिया।

बहन की मौत से आहत भरत तभी से सुहैल के खून का प्यासा बन गया। हालांकि उस समय वो कुमाऊं रेजिमेंट में सेना की ट्रेनिंग ले रहा था और आर्थिक रूप से भी कमजोर था लिहाजा वो चाहते हुए भी सुहैल का कुछ नहीं बिगाड़ पाया।

इस बीच समय बदला और भरत सेना में नौकरी करने लगा लेकिन सुहैल अक्सर उसकी बहन के चरित्र और उसके साथ बिताए पलों के सहारे भरत की बहन को लेकर अपशब्द कहता और भद्दी टिप्पणियां करता। 14 जुलाई को भरत एक महीने की छुट्टी में घर आया और कुछ दिनों बाद उसका सामना सुहैल से हुआ। सुहैर ने फिर एक बार उपहास भरी नजर देखकर उसपर कमेन्ट किया। भरत का गुस्सा सुहैल के प्रति अपनी हद पार कर चुका था। उसने खुद ही सुहैल को मारने की ठान ली। सुहैल को मौत की नींद सुलाने के लिए भरत ने अपने एक दोस्त दिनेश से संपर्क किया।

दो अगस्त की रात आठ बजे के आसपास दोनों ने सुहैल के दुकान बंद कर घर के लिए निकलने का इंतजार किया। योजना के तहत रात को करीब 08.30 बजे दोनों अपनी एल्टो कार से सुहैल की दुकान से कोटद्वार रोड की तरफ करीब 200 मीटर मोड़ पर नहर के किनारे पहुंचे एल्टो कार वहीं पर खड़ी कर सुहैल के आने का इन्तजार करने लगे।

जैसे ही सुहैल अपनी मोटर साइकिल से भरत की कार के पास पहुंचा तो उन्होंने सुहैल की मोटर साइकिल पर टक्कर मार दी। इससे सुहैल नहर की पटरी पर गिर गया उसके सिर पर चोट आ गयी। सुहैल खड़े होने का प्रयास करने लगा तो भरत और दिनेश ने गाड़ी में रखे लोहे के रॉड से उसके सिर पर तेज प्रहार किये। सुहैल की मौके पर ही मौत हो गई।

हत्या के बाद दोनों ने सोहेल की लाश को अल्टो कार में रखा। भरत ने कार ली और दिनेश ने सुहैल की मोटर साइकिल ले ली। इस दौरान भरत ने घटना में इस्तेमाल की गई रॉड रास्ते में फेंक दी और सुहैल का मोबाइल फोन, आधार कार्ड, पर्स नहर के तेज बहाव में फेंक दिये।

इसके बाद दोनों सुहैल की मोटरसाइकिल और लाश के साथ कानिया चौराहे से मालधन चौड़ होते हुए काशीपुर के रास्ते मुरादाबाद काठ रोड में छजलेट थाना क्षेत्र में सड़क के किनारे पहुंचे। वहाँ पर दोनों ने सुहैल की बाइक को  चाबी सहित सड़क के किनारे झाडियों में फेंक दिया। इसके बाद दोनों ने सुहैल की लाश को बाईक की जगह से करीब 500 मी0 आगे जाकर मेन रोड से बायीं तरफ जाने वाले रास्ते में करीब 200 मी0 अन्दर गन्ने के खेत में फेंक दिया। लाश की पहचान छुपाने के लिए लाश के चेहरे पर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी और वापस रामनगर आ गए।

पुलिस ने भरत की निशानदेही पर सुहैल की लाश के साथ ही उसकी बाइक, घटना में प्रयुक्त अल्टो कार बरामद कर ली है। वहीं दिनेश फरार चल रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here