उत्तराखंड। एंबुलेंस न मिलने से गर्भवती की मौत, सचिव ने शुरु कराई जांच

DEATH of pragnent lady

 

उत्तरकाशी में एंबुलेंस के इंतजार में गर्भवती की मौत के बाद अब स्वास्थ महकमा जाग गया है। इस मामले में जांच के आदेश दिए गए हैं।

आपको बता दें कि मंगलवार को उत्तरकाशी में एंबुलेंस के इंतजार में गर्भवती महिला की मौत हो गई थी। अमर उजाला में प्रकाशित एक खबर के अनुसार विकासखंड नौगांव के सरनोल गांव निवासी मनोज की पत्नी ललिता दूसरे बच्चे के प्रसव के लिए अपने मायके पुरोला के कंडियाल गांव आई हुई थी। सोमवार रात करीब 12 बजे प्रसव पीड़ा होने पर परिजन उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पुरोला ले गए। चिकित्सकों ने उसकी गंभीर हालत को देखते हुए हायर सेंटर के लिए रेफर कर दिया।

रास्ते में प्रसव पीड़ा बढ़ने पर परिजन उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नौगांव ले गए। प्राथमिक उपचार के बाद अस्पताल प्रबंधन ने गर्भवती को हायर सेंटर ले जाने के लिए 108 एंबुलेंस सेवा को फोन किया। एंबुलेंस के पहुंचने में देरी हो गई और सुबह तकरीबन चार बजे गर्भवती महिला ने दम तोड़ दिया। चिकित्सकों ने बताया कि गर्भ में पल रहा शिशु पहले ही दम तोड़ चुका था।

समाचार माध्यमों में ये खबर प्रकाशित होने के बाद स्वास्थ महकमा जागा है। प्रभारी सचिव आर राजेश कुमार ने इस मामले में डीजी हेल्थ को जांच के आदेश जारी कर दिए हैं। प्रभारी सचिव ने डीजी हेल्थ को सख्त निर्देश दिए हैं कि ऐसा घटनाक्रम राज्य में दोबारा न हो। सचिव ने 108 आपातकालीन एंबुलेंस सेवा की व्यक्तिगत रूप से मॉनीटरिंग करन के लिए कहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here