एक महीने तक स्कूल की जगह पार्क में घूमता रहा छात्र, फिर अपहरण का नाटक!

एक छात्र पिछले एक महीने से स्कूल नहीं जा रहा था। वह घर से तो स्कूल के लिए निकलता था लेकिन स्कूल की जगह वह शहरभर के पार्क और मॉल्स में घूमता था। एक महीने में उसने शहर के लगभग हर मॉल और पार्क घूम लिए।  एक दिन परिवार को शक हुआ तो मां ने साथ में स्कूल जाने की बात कही तो अगले दिन छात्र ने खुद के अपहरण की कहानी रच ली।

मामला लखनऊ के राजाजीपुरम का है। यहां 15 वर्ष के एक छात्र ननिहाल में रहकर राजाजीपुरम स्थित सेंट जोजफ स्कूल में नौंवी की पढ़ाई कर रहा था। पिता प्राइवेट जॉब करते हैं और मां गृहिणी हैं। छात्र करीब एक महीने से सुबह घर से स्कूल के लिए निकलता मगर स्कूल जाने के बजाय मॉल-पार्क में घूमता था।

होने लगा था शक

छात्र के व्यवहार में बदलाव देखकर मौसी ने उससे बात की और उसे समझाने की कोशिश की। जिसके बाद उन्होंने बच्चे की मां से की। जिसके बाद मां ने नाराज होकर कहा कि मैं तुम्हारे स्कूल चल कर बात करूंगी। जिससे छात्र डर गया। शनिवार सुबह मां को स्कूल जाना था। यह बात सोच कर छात्र परेशान था। उसे डर था कि मां के स्कूल जाते ही सच्चाई सामने आ जाएगी। इस डर से शनिवार सुबह छात्र घर छोड़ कर निकल गया। घर से वह चारबाग रेलवे स्टेशन पहुंचा। जहां से ट्रेन में बैठ कर दिल्ली चला गया।

सर्विलांस ने खोली पोल

शनिवार को जब छात्र समय पर घर नहीं पहुंचा तो परिवार वाले स्कूल पहुंचे तो पता चला कि छात्र आया ही नहीं था। शाम पांच बजे छात्र के नम्बर से मां को व्हाट्सएप पर मैसेज आया। जिसमें लिखा था कि मैं फोन नहीं उठा सकता। मैसेज से बात हो सकती है। परिजनों को उसके अपहरण का शक हुआ। जिसके बाद वे बाजारखाला कोतवाली पहुंचे। पुलिस ने मामले की गंभीरता समझ नम्बर सर्विलांस पर लिया तो लोकेशन दिल्ली होने की बात सामने आई।

घर से पैसे लेकर निकला

पुलिस ने छानबीन शुरू की। पुलिस को पता लगा कि छात्र ने घर छोड़ने का मन बना लिया था। उसने घर आठ हजार रुपए भी लिए थे। रुपए लेकर शनिवार वह घर से निकला था। रास्ते में कई जगह खाने में खर्च किए थे। इंस्पेक्टर विनोद यादव के मुताबिक शहर से निकलते ही छात्र ने मोबाइल ऑफ कर लिया। वह स्टेशन के वाईफाई से व्हाट्सएप मैसेज ऑडियो स्क्रिप्ट भेज रहा था। छात्र की व्हाट्सएप कॉल पर मां से बात कराई गई। मां को रोता सुनकर वह भी भावुक हो गया और रविवार को लौट आया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here