बर्ड फ्लू की दस्तक के बाद उत्तराखंड में 871 पक्षियों की मौत, अधिकतर कौए पाए गए मृत

देहरादून : कोरोना के साथ देश में बर्ड फ्लू का खतरा भी बढ़ गया है। बता दें कि अब तक प्रदेश अब तक 871 पक्षियों की मौत हो चुकी है, जिनमें सबसे ज्यादा कौए मृत पाए गए हैं। बता देंकि प्रदेश में कुल मृत कौए की संख्या 754 है।हालांकि पिछले 4 दिन से पक्षियों की मौत के मामले कम सामने आ रहे हैं। प्रदेश में मंगलवार को कुल 49 पक्षियों की मौत हुई, जिनमें 37 कौए हैं। आपको बता दें कि इन कौओं में 32 कौओं की मौत देहरादून वन प्रभाग में हुई है। बीते दिनों की तुलना में यह संख्या कम हैं लेकिन अभी वन विभाग की मुश्किलें कम नहीं हुई हैं। लोगों ने चिकन और अंडे खाना कम कर दिया है। अंडे मुर्गी का कारोबार धीमा पड़ गया है।

चिकन और अंडे के शौकीन लोग इसे खाने से कतरा रहे हैं। अंडों की और चिकन की बिक्री कम हो गई है. पोल्ट्री फार्म वालों को नुकसान हो रहा है। व्यापारियों के चेहरे पर मायूसी छा गई है। बता दें कि उत्तराखंड में कौओं में बर्ड फ्लू की पुष्टि हो चुकी है, जबकि अन्य पक्षियों में अभी तक बर्ड फ्लू से मौत का मामला सामने नहीं आया है। हालांकि, एहतियात के तौर पर सभी पक्षियों की निगरानी और सैंपलिंग की जा रही है। ड्रोन से नजर रखी जा रही है। अभी तक किसी पोल्ट्री फार्म में भी बर्ड फ्लू के संकेत नहीं मिले हैं। बावजूद इसके पशुपालन विभाग की ओर से सर्विलांस जारी है।

बता दें कि टिहरी के भिलंगना ब्लॉक में एक पोल्ट्री फार्म में लगभग 150 मुर्गियां मृत पाई गई है जिसमे बर्ड फ्लू की आशंका जताई जा रही है। विभाग औऱ प्रशासन ने सैंपल जांच के लिए लिए हैं जिसकी रिपोर्ट आना बाकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here