उत्तराखंड: हैसियत प्रमाण पत्र बनाने के लिए मांगी 4000 हजार की रिश्वत, गिरफ्तार

रुड़की: विजिलेंस ने 4000 हजार रुपये घूस मांगने वाले लेखपाल को गिरफ्तार किया है। आरोपी के खिलाफ 1064 एंटी करप्शन हेल्पलाइन पर नंर बर शिकायत की थी। नरेंद्र कुमार के खिलाफ मिली शिकायत के बाद विजिलेंस ने जाल बिछाया और लेखपाल को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।

शिकायतकर्ता ने ऑनलाईन आवेदने किया था। उसका कहना था कि ठेकेदारी के लिए हैसियत प्रमाण पत्र बनाना था, जिसके लिए पटवारी नरेश कुमार सैनी ने जांच रिपोर्ट लगाने के एवज में 4000 रुपये की रिश्वत मांगी। उनकी इस शिकायत पर विजिलेंस ने गोपनीय कराई और मामले के सही पाए जाने के बाद पुलिस अधीक्षक सतर्कता अधिष्ठान के निर्देश पर ट्रैप की कार्रवाई की गई।

निदेशक सतर्कता अमित कुमार सिन्हा ने टीम को इनाम की घोषणा की है। पुलिस अधीक्षक सतर्कता अधिष्ठान धीरेन्द्र गुंज्याल ने बताया कि यदि किसी भी सरकारी कर्मचारी/अधिकारी द्वारा भष्टाचार के माध्यम से आय से अधिक सम्पत्ति अर्जित की गयी हो, तो ऐसे लोगों की शिकायत 1064 पर मौखित या मौखिक रूप से की जा सकती है। उन्होंने कहा कि किसी से भी डरने की जरूरत नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here