अंकिता के परिजनों को 25 की लाख की मदद पर सवाल, रिजार्ट नीलाम करने की मांग

ankita and kumar vishwasअंकिता हत्याकांड के बाद पूरे राज्य में उनके परिवार की मदद की मांग उठ रही थी। इसी बीच उत्तराखंड की धामी सरकार ने अंकिता के परिवार को 25 लाख रुपए की मदद देने ऐलान किया है। हालांकि अब इस मदद को लेकर सवाल उठने लगे हैं। लोगों का मानना है कि अंकिता के परिजनों को 25 लाख रुपए की मदद मुख्यमंत्री के विवेकाधीन कोष से न देकर बल्कि पुलकित के रिजार्ट को नीलाम करा कर देने चाहिए। लोगों का मानना है कि पुलकित के रिजार्ट को नीलाम कराकर जो रकम मिले उसे अंकिता के परिजनों को दे देनी चाहिए।

दरअसल अंकिता के परिजनों को मिलने वाली आर्थिक मदद पर सबसे पहले सवाल कुमार विश्वास ने उठाया। कुमार विश्वास ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर लिखा, ‘पर क्यूँ ? सत्ता के अहंकार में डूबे उस नीच दुर्योधन के कुकर्मों का मुआवज़ा टैक्स-पेयर के पैसे से क्यूँ दिया जाएगा ? उस नराधम के रिसोर्ट और सम्पत्तियों की नीलामी करके इस बिटिया के परिजनों को सारा धन क्यूँ न दिया जाए ? अनाचार-व्यभिचार करें पॉलिटिकल परिवार के संरक्षण में पले बेलगाम लड़के और भरे जनता? गद्दी पर बैठे हुए हर धृतराष्ट्र को यह सदैव याद रखना चाहिए कि जिन राजवंशों के दुर्योधन भरी राज्यसभा में अपनी बेटियों, बहनों और कुलवधुओं का अपमान करते हैं वे कितने भी वैभवशाली हस्तिनापुर हों समय का महाभारत अंततः उन्हें विनाश के मलबे में तब्दील कर ही देता है’

कुमार विश्वास के इस बयान के बाद सोशल मीडिया में सरकार के जरिए दी जा रही आर्थिक मदद पर सवाल उठने लगे। लोगों ने कुमार विश्वास का साथ दिया और इस व्यक्तय को सही बताने लगे। कई लोगों ने कुमार विश्वास की हां में हां मिलाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here