देखिए VIDEO : कांग्रेस नेता का बड़ा खुलासा : हरदा को अपनों ने हराया, भगवान उन्हें कभी माफ नहीं करेगा, वो भोलेभाले व्यक्ति

देहरादून : पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत लालकुआं से चुनाव हार गए। इससे पहले 2017 में वो दो सीटों से हारे थे। बता दें कि मोहन सिंह बिष्ट ने 17527 वोटों से हरीश रावत को हराया। वहीं हरीश रावत की हार के पीछे अपनों का हाथ बताया जा रहा है। कांग्रेस को हराने में करीबियों को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है। कहा जा रहा है कि लालकुआं में भितर घात हुआ है।

आपको बता दें कि कांग्रेस के प्रदेश सचिव गोपाल रावत ने बड़ा बयान दिया है और बड़ा खुलासा किया है। गोपाल रावत ने कहा कि हरीश रावत लालकुआं विधानसभा सीट से हारने वाले नहीं थे, लेकिन उनके साथ घूमने वाले 2 लोग ने उन्हें हराने का काम किया। उनके साथ जो 9 नंबरी और 10 नंबरीथे  उन्होंने हरीश रावत को हराने का काम किया है। गोपाल रावत ने कहा कि वो उनके साथ कार में घूमे और जहां वोट थे वहां उनको उतरने नहीं दिया।

कांग्रेस नेता गोपाल रावत ने कहा कि हरीश रावत के साथ चुनाव में घूम रहे दोनों नेताओं ने जमीन में कार्यकर्ताओं से मिलाने के बजाय हरीश रावत को गोल घेरे में उलझाए रखा। इतना ही नहीं हरीश रावत को कार्यकर्ताओं से भी नहीं मिलने दिया और तो और यह 9 नंबरी और 10 नंबरी नेता अपने बूथ से हरीश रावत को वोट तक नहीं दिला पाए। गोपाल रावत ने कहा कि हरीश रावत के इर्द-गिर्द घूम रहे दोनों नेताओं ने जमीन पर बिल्कुल भी काम नहीं किया नहीं तो हरीश रावत नहीं हारते।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here