उत्तराखंड : सड़क निर्माण कार्य में गुणवत्ता से खिलवाड़ करने वालों की खैर नहीं, एक्शन में आर.के सुधांशु, लिया बड़ा फैसला

देहरादून : उत्तराखंड में कई जिलों में सड़क निर्माण का काम चल रहा है। सड़क निर्माण में गुणवत्ता से छेड़छाड़ का खामियाजा मासूम जनता को भुगतना पड़ा। सड़क हादसों में कइयों ने अपनी जान गवाई। वहीं कई बार सड़क निर्माण में घटिया सामग्री का प्रयोग करने की शिकायत भी मिली। एक बच्ची का तो वीडियो भी खूब वायरल हुआ जिसका संज्ञान शासन ने लिया। वहीं अब सड़क निर्माण कार्य में गुणवत्ता से खिलवाड़ करने वालों की खैर नहीं है। जी हां सड़क की गुणवत्ता को लेकर सचिव लोनिवि आर के सुधांशु एक्शन में है। सचिव ने सख्त रवैया अपनाते हुए निर्माण कार्य की रैंडम सैंपलिंग का फैसला लिया। इतना ही नहीं सचिव ने सड़क निर्माण की गुणवत्ता की जांच के लिए पांच टीमों का गठन भी किया है जो हर हफ्ते रैंडम सैंपल लेगी और जांच करेगी। दोषी पाए जाने पर संबंधितों पर कार्रवाई की जाएगी।

आपको बता दें कि विशेष सहायता योजना के तहत प्रदेश में चल रहे सड़कों के कार्यों की गुणवत्ता की जांच को लेकर सचिव (लोनिवि) आरके सुधांशु सख्त नजर आ रहे हैं। सड़क निर्माण के कार्यों की गुणवत्ता जांचने के लिए लोनिवी सचिव ने पांच टीमों का गठन किया है। जो की उत्तराखंड में चल रहे सड़क निर्माण कार्यों का हर सप्ताह रैंडम जांच सैंपल लेंगी। जानकारी मिली है कि इन सैंपलों की कुआंवाला स्थित प्रयोगशाला में जांच होगी। मुख्य अभियंता (गुणवत्ता नियंत्रण) इनकी जांच रिपोर्ट प्रमुख अभियंता के माध्यम से शासन को देंगे।

यहां यहां चल रहा है निर्माण कार्य

आपको बता दें कि विशेष योजना के तहत उत्तराखंड में 25 सड़कों का निर्माण कार्य चल रहा है। जिसमें देहरादून मसूरी मोटर मार्ग, टर्नर रोड, मस्जिद वाली गली रोड, सब्जीमंडी से जुड़ी रोड, संस्कृति लोक वार्ड 77, वाणी विहार आजादनगर कॉलोनी, दुर्गानगर रामगढ़ रोड, गऊघाट रोड, उत्तरकाशी के भटवाड़ी में स्टीलगार्डर ब्रिज निर्माण, कोटी रुलयालु मोटरमार्ग, चम्बा कोटी मोटरमार्ग, डोबरा चांठी एप्रोच रोड, गुरुदेवता-मुसान-गसुन लेवा गजरौला मोटर मार्ग प्रमुख हैं। इनके अलावा बाजपुर में आंतरिक मार्ग, जसपुर में मैन रोड, गदरपुर में गणेशपुर रोड, जयपुर में रामगढ़ भरतपुर मोटर मार्ग, काशीपुर ठाकुरद्वारा मोटर मार्ग, टनकपुर झूलाघाट मोटर मार्ग, हालियाडोव नाचनी मोटर मार्ग व बानकोट शमिल है। जिनकी गुणवत्ता जांचने के लिए अब टीमे गठित की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here