रोहतक हत्याकांड का उत्तराखंड कनेक्शन, नैनीताल से आया था दोस्त, लड़के से शादी करना चाहता था आरोपी

रोहतक में अपने मां-पिता समेत बहन और नानी की गोली मारकर हत्‍या करने के मामले में नया कनेक्शन जुड़कर सामने आया है। जी हां बता दें कि इस मामले का उत्तराखंड से कनेक्शन जुड़ गया है। इस मामले में पैसे और प्रॉपर्टी की बात भी सामने आ रही है। जानकारी मिली है कि पैसे ना देने के कारण ही वो परिवार से नाराज चल रहा था। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार अभिषेक दिल्ली में मेडिकली सर्जरी करना चाहता था लेकिन परिवार इसके खिलाफ था.

बता दें कि बीते दिनों रोहतक हत्याकांड से देश भर में सनसनी फैल गई थी। 20 साल के बेटे ने अपन पूरे परिवार को खत्म कर दिया था। वो सबके सामने ऐसे रोया कि किसी को यकीन नहीं हुआ कि सबकी हत्या उसने की है। मामला रोहतक के विजय नगर कालोनी क था जहां चौहरे हत्याकांड का पर्दाफाश हुआ तो पुलिस के भी होश उड़ गए। प्रॉपर्टी डीलर के 20 साल का बेटा ही हत्यारा निकला। योजना के तहत अपने पिता-मां, बहन और नानी की गोली मारकर मारकर हत्या कर दी। हत्या के पीछे के कई कारण बताए जा रहे हैं।मामले में प्रापर्टी डीलर के साले प्रवीण ने शिवाजी कालोनी थाने में अज्ञात आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज कराया था।

किसी लड़के से शादी करना चाहता था आऱोपी, बहन को प्रॉपर्टी देने से थी दिक्कत

पुलिस की पूछताछ में अभिषेक ने बताया कि वो अपनी बहन को ज्यादा तवज्जो दिये जाने और पैसों की डिमांड पूरी ना होने से बेहद खफा था. वो अपने पिता से 5 लाख रुपये की मांग कर रहा था. इससे पहले वो अपनी बहन के नाम प्रॉपर्टी किये जाने से भी नाराज था, उसका कहना था कि बहन को माता-पिता हर जगह उससे ज्यादा अहमियत देते थे जो मुझसे बर्दाश्त नहीं होता था.जानकारी मिली है कि आरोपी गे था और वो किसी लड़के से शादी करना चाहता था। लेकिन परिवार इसके खिलाफ था. लिहाजा उसने सबको अपने रास्ते से हटाने का प्लान बनाया.

पिता फोन पर कर रहे थे बात, दागी तीन गोलियां

आरोपी ने पुलिस को बताया कि वो बंदूर लेकर सुबह के करीब 11 बजे अपने घर पहुंचा। उस दौरान उसके पिता लेटकर फोन पर किसी से बात कर रहे थे. अभिषेक ने घर में तेज म्यूजिक चलाया और अपने पिता पर एक के बाद एक तीन गोलियां दागी. पहली गोली लगने के बाद उसके पिता बबलू कुछ हलचल कर रहे थे इसलिए उसने दो गोलियां और मारी ताकि वो पूरी तरह मर जाए।इसके बाद उसने अपनी बहन, मां और नानी को एक-एक गोली मारी. वारदात को अंजाम देने के बाद अभिषेक ने घर के दरवाजे बंद किये और बाहर निकल गया.

हत्या के बाद दोस्त के साथ होटल में गया था आरोपी

इसके बाद अभिषेक पहले से इंतजार कर रहे अपने दोस्तों से जाकर मिला. वो घर की चाबी अपने साथ ले गया था. यहां से वो अपने दोस्तों को लेकर जश्न मनाने एक होटल में पहुंचा, वहां इन्होंने बहुत सारा खाना ऑर्डर किया, लेकिन बकौल अभिषेक उससे कुछ नहीं खाया गया. वहां बैठकर उसने लोगों और पुलिस को सुनाने के लिए एक कहानी गढ़ी और करीब ढाई घंटे बाद घर वापस लौट आया.

आरोपी  ने मामा को खुद फोन करके दी जानकारी

अभिषेक ने अपने प्लान के मुताबिक मामा को फोन करके बताया कि घर का दरवाजा बंद है और कोई खोल नहीं रहा है. उसके मामा ने दरवाजा तोड़ने की सलाह दी, जिस पर अमल करते हुए अभिषेक ने दरवाजा तोड़ दिया. लेकिन जब वो अंदर पहुंचा तो देखा कि उसकी बहन जिंदा थी. यहां उसने फिर से प्लान बदला और बहन को अस्पताल ले गया, लेकिन इससे पहले कि वो कुछ कह पाती, उसकी सांसे थम गईं.

मामले का उत्तराखंड से निकला कनेक्शन

जानकारी मिली है कि बेटे की गलत संगत को देखते हुए खर्चा-पानी बंद कर दिया गया था। जिससे उसके शौक पूरे नहीं हो रहे थे। हत्याकांड में आरोपित बेटे के अलावा और कौन-कौन शामिल रहा है यह पता करने के लिए उसे कोर्ट में पेश कर पांच दिन के रिमांड पर लिया गया है। इस हत्या कांड का उत्तराखंड कनेक्शनभी निकला है। जानकारी मिली है कि आरोपी का एक दोस्त उत्तराखंड के नैनीताल से आया था जिसका नाम कार्तिक है। कार्तिक वारदात के दिन रोहतक में ही था, लेकिन पुलिस ने उसकी भूमिका के बारे खुलासा नहीं किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here