ठुकराल बोले- मेरी लोकप्रियता से घबराई भाजपा, प्रत्याशी को बताया बाहुबली फ़िल्म का भल्लालदेव

रुद्रपुर विधानसभा से निर्दलीय उम्मीदवार राजकुमार ठुकराल ने भाजपा द्वारा लगाए गए आरोपों को निराधार बताया है. साथ ही इस मामले का वीडियो भी उन्होंने मीडियाकर्मियों को दिखाया है। अपने कार्यालय मं प्रेस वार्ता कर ठुकराल ने जानकारी दी।

रुद्रपुर विधानसभा के सुन्दरपुर में हुए मामले में अपने कार्यालय पर आयोजित प्रेसवार्ता में निर्दलीय प्रत्याशी राजकुमार ठुकराल ने आरोपों को गलत बताया है। उन्होंने कहा कि भाजपा समर्थक उनकी बढ़ती लोकप्रियता से घबरा गए हैं। उन्होंने भाजपा प्रत्याशी को बाहुबली फ़िल्म के भल्लालदेव की संज्ञा दी। तथा अपने आप को बाहुबली का उदाहरण दिया कि कैसे भल्लालदेव ने षड्यंत्र रचकर बाहुबली को बाहर करवा दिया मगर जनता के बीच उनकी लोकप्रियता बढ़ती ओर जनता ने उन्हें राजा बनाया। वैसे वह जनता के बीच जा रहे हैं और उन्हें अपार समर्थन मिल रहा है और जनता उन्हें (राजा) विधायक बनायेगी। भाजपा प्रत्यशी के षड़यंत्र को जनता समझ चुकी है।

राजकुमार ठुकराल ने कहा कि जो उन पर आरोप लग रहे हैं वह गलत है जबकि भाजपा सहप्रभारी लॉकेट चटर्जी के वाहन को उन्होंने स्वयं लोगों के हाथ जोड़कर उन्हें सकुशल बाहर निकाला था। हालांकि इस मामले में दोनों पक्षों की ओर से दी गई तहरीर पुलिस को दी गई थी तथा इस मामले पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है।

आपको बता दें कि बीते दिन सुंदरपुर गांव में चुनाव प्रचार के दौरान राजकुमार ठुकराल के समर्थक और बीजेपी के कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए थे और विवाद बढ़ गया था. पुलिस ने दोनों पक्षों की तहरीर के आधार पर निर्दलीय प्रत्याशी राजकुमार ठुकराल समेत 4 नामजद और 30 से 35 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जबकि निर्दलीय प्रत्याशी के समर्थक की तहरीर पर भाजपा प्रत्याशी के 5 समर्थकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया. भाजपा प्रत्याशी के चुनाव प्रचार के लिए भाजपा सांसद लॉकेट चटर्जी सुंदरपुर गांव गए हुए थे. इससे पूर्व ही निर्दलीय प्रत्याशी के समर्थक भी गांव में प्रचार कर रहे थे. इस दौरान दोनों ही पक्ष आमने-सामने आ गए और दोनों पक्षों के बीच धक्का-मुक्की शुरू हो गई. जिसके बाद लॉकेट चटर्जी सहित सैकड़ों कार्यकर्ता कार्रवाई की मांग को लेकर धरने पर बैठ गए.

इस दौरान लॉकेट चटर्जी ने निर्दलीय प्रत्याशी राजकुमार ठुकराल के समर्थकों पर गंभीर आरोप लगाते हुए उनके साथ अभद्रता करने, उनके वाहन को रोकने और भाजपा के कार्यकर्ता के साथ मारपीट का आरोप लगाया था. जबकि दोनों प्रत्याशियों के समर्थक मारपीट, गाली-गलौज व जान से मरने की धमकी का आरोप लगा रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here