परिवार की गुहार : साहब हमारे अपनों का शव ही दिला दीजिए, मन को संतुष्टि हो जाएगी वो नहीं रहे

चमोली आपदा प्रभावित क्षेत्र तपोवन टनल एवं रैणी में जिला प्रशासन के नेतृत्व में रेस्क्यू ऑपरेशन युद्ध स्तर पर जारी है। गढ़वाल मंडल आयुक्त रविनाथ रमन औऱ जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया घटनास्थल की पल-पल की जानकारी ले रहे हैं। वहीं बता दें कि टीमों का रेस्क्यू जारी है। टनल के साथ ही नदी में सर्च ऑपरेशन जारी है। टनल में 35 से 40 लोगों के फंसे होने की खबर है जिसमे से 9 शव बरामद किए जा चुके हैं। टनल के बाहर लापता लोगों के परिजना नजरें ग़ड़ाए हुआ हैं। उनको उम्मीद है कि उनके अपने टनल के अंदर जिंदा होंगे लेकिन जैसे जैसे शव बरामद हो रहे हैं वैसे वैसे लोगों की उम्मीदें टूट रही है। टीमें अपना काम पूरी मेहनत के साथ कर रही है ताकि किसी की जिंदगी बचा सके।

टनल के बाहर खडे लापता लोगों के परिवार वाले मंत्री विधायकों और अधिकारियों से गुहार लगा रहे हैं कि साहब हमारे अपनों का ही शव दिला दीजिए, मन को संतुष्टि हो जाएगी कि अब वे नहीं रहे। जी हां बता दें कि आपदा प्रभावित क्षेत्र का जायजा लेने गए बद्रीनाथ विधायक महेंद्र भट्ट और दर्जाधारी बृजभूषण गैरोला की अगुवाई में गए भाजपाइयों के दल को पीड़ित परिवारों ने यही गुहार लगाई। रविवार को भाजपा का एक दल  करछों, चाच्णी सुवई व तपोवन व्यांग गांव पहुंचा और पीड़ित परिवारों से मिले। अपनों की तलाश में इन परिवारों का बुरा हाल है।

आपको बता दें कि देर रात 1.30 बजे एक शव और सोमवार सुबह 7 बजे 01 अन्य शव तपोवन टनल के अंदर से बरामद हुआ। और दोपहर को एक औऱ शव टनल से बरामद हुआ है। आज टनल से 3 शव बरामद हो चुके हैं औऱ अब तक टनल के अंदर से कुल 9 शव बरामद किए गए हैं। एक शव मैठाणा बांगड़ गांव से मिला है जिसके बाद मरने वालों की संख्या 55 हो गई है। 29 शवों की शिनाख्त कर ली गई है जबकि बाकियों शवों की शिनाख्त नहीं हो पाई है। कुल 204 लोग लापता हैं। आपको बता दें कि टनल में 35 से 40 लोगों के फंसे होने की आशंका है और टनल के अंदर से 9 शव बरामद हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here