उत्तराखंड: पकड़ा गया नशे का सबसे बड़ा सौदागर, युवाओं को कर रहा था बर्बाद

 

किच्छा: तराई और हल्द्वानी में नशे के इंजेक्शन सप्लाई करने का धंधा लंबे समय से चल रहा था। नशे का ये धंधा स्कूल और कॉलेज के युवाओं को बबार्द कर रहा है। लगातार इसके मामले सामने आ रहे थे। पुलिस और ADTF ने नशे के इंजेक्शनों की खेफ को छोटे-छोटे पैडलर्स के पास पहुंचाने का काम करता था।

ये सप्लायर उत्तर प्रदेश से खरीदकर उत्तराखंड में नशीले इंजेक्शन की सप्लाई करने काम करता था। थोक व्यापारी को किच्छा पुलिस ने 300 से अधिक नशीले इंजेक्शन के साथ गिरफ्तार कर लिया है। जानकारी के अनुसार महंगी कार में कहीं सप्लाई करने जा रहा था। कोतवाली परिसर में मामले का खुलासा करते हुए क्षेत्राधिकारी ओमप्रकाश शर्मा ने बताया कि कोतवाली पुलिस लगातार नशीले पदार्थों के व्यापार पर अंकुश लगाने के लिए समय-समय पर छापामार अभियान चलाए हुए है।

पुलिस और ADTF की टीम ने चक्रेटा कार को चेकिंग के लिए रोका तो वाहन चालक भागने का प्रयास करने लगा। पुलिस घेराबंदी कर चालक को हिरासत मंे ले लिया, जिसके बाद चेकिंग में विभिन्न कंपनियों के 300 नशीले इंजेक्शन बरामद हुए। पुलिस ने वाहन चालक और वाहन को कब्जे में लेकर गिरफ्तार कर लिया।

उसने अपना नाम छत्रपाल पुत्र बलदेव सिंह निवासी बंगाली कॉलोनी आजाद नगर थाना किच्छा जिला ऊधमसिंह नगर बताया। पुलिस की पूछताछ में नशीले पदार्थों की तस्करी करने वाले छत्रपाल ने बताया कि उत्तर प्रदेश से नशीले पदार्थों इंजेक्शन लाकर कुमाऊं मंडल के विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रों में सप्लाई करता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here