उत्तराखंड : जौली की हो रही चर्चा, अपने मालिक को भालू से बचाया


पौड़ी: कुत्ते हमेशा से ही अपने मालिक के लिए वफादारी निभाते हैं। इस तरह के कई किस्से और कहानियां भी देखने और सुनने को मिलती हैं। ऐसा ही एक मामला पौड़ी जिले में भी सामने आया है। पौड़ी जनपद में नैनीडांडा विकासखंड के उम्टा गांव में कुत्ते ने भालू के चंगुल में फंसे अपने मालिक की जान बचाई। कुत्ते के किस्सा पूरे क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है। भालू के हमले में घायल मालिक का नैनीडांडा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में उपचार चल रहा है।

उम्टा निवासी सुखबीर सिंह काश्तकार हैं और गांव में ही सब्जी उत्पादन का काम करते हैं। दोपहर करीब दो बजे खेतों में उगी सब्जी में सिंचाई कर रहे थे। इस दौरान झाड़ि‍यों में छिपे भालू ने उन पर हमला कर दिया। बताया कि भालू के हमले से वे घबरा गए। उन्होंने हाथ में पकड़ी कुदाल भालू पर दे मारी।

लेकिन, भालू पर इसका असर नहीं हुआ। बताया कि जैसे ही भालू उसका चेहरा नोंचने के लिए आगे आया, उन्होंने भालू के दोनों अगले पैर पकड़ लिए। इस गुत्थम-गुत्था में दोनों जमीन पर गिर पड़े। सुखबीर ने बताया कि भालू की ताकत के आगे वे खड़े नहीं हो पाए और उन्हें सामने साक्षात मौत नजर आने लगी।

इसी दौरान उनका कुत्ता जौली तेजी से मौके पर आया और भालू की ओर भौंकते हुए उसकी टांग पर झपट मार दिया। जैसे ही भालू उनके कुत्ते की ओर बढ़ा, वे खड़े हो गए और भालू पर पत्थर फेंकने शुरू कर दिए, जिससे भालू मौके से भाग गया। उन्होंने बताया कि अगर उनका कुत्ता जौली मौके पर नहीं पहुंचता तो भालू उनकी जान ले लेता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here