उत्तराखंड: यात्रियों के लिए हेल्थ एडवाइजरी जारी, ऐसे रखें अपना ख्याल

 

देहरादून: चारधाम यात्रा के दौरान लगातार हो रही तीर्थ यात्रियों की मौत के बाद सरकार और प्रशासन हरकत में है। सरकार ने जरूरी कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग की ओर से यात्रियों के स्वास्थ्य के लिये हेल्थ एडवाइजरी जारी की गई है।

चारधाम यात्रा में समस्त तीर्थ स्थल उच्च हिमालयी क्षेत्र में स्थित है, जिनकी ऊंचाई समुद्र तल से 2700 मीटर से भी अधिक है। उन स्थानों में यात्रीगण अत्यधिक ठड, कम आद्रता, अत्यधिक अल्ट्रा वॉयलेट रेडिएशन, कम हवा का दबाव और कम ऑक्सीजन की मात्रा से प्रभावित हो सकते हैं। सभी तीर्थ यात्रियों के सुगम टज्ञेश्र सुरक्षित यात्रा के लिए निर्देशों का पालन करना होगा।

-श्रद्धालुओं से अनुरोध किया गया है कि स्वास्थ्य परीक्षण के उपरांत ही यात्रा के लिए प्रस्थान करें।

-पूर्व से बीमार व्यक्ति अपने चिकित्सक का परामर्श पर्चा और चिकित्सक का संपर्क नम्बर व चिकित्सक द्वारा लिखी गयी दवाईयां अपने साथ रखें।

-अति वृद्ध और बीमार व्यक्तियों एवं पूर्व में कोविड से ग्रसित व्यक्तियों के लिए यात्रा पर न जाना या कुछ समय के लिए स्थगित करना उचित होगा।

-तीर्थस्थल पर पहुंचने से पूर्व मार्ग में एक दिन का विश्राम करना उचित होगा।

-गर्म और ऊनी वस्त्र साथ में अवश्य रखें। हृदय रोग, श्वांस रोग, मधुमेह, उच्च रक्तचाप से ग्रस्त रोगी ऊंचाई वाले क्षेत्रों में जाते समय विशेष सावधानी बरतें।

-लक्षण जैसे- सिर दर्द होना, चक्कर आना, घबराहट का होना, दिल की धड़कन तेज होना, उल्टी आना, हाथ-पांव व होठों का नीला पड़ना, थकान होना, सांस फूलना, खांसी होना अथवा अन्य लक्षण होने पर तत्काल निकटतम स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचें और 104 हैल्पलाइन नम्बर पर सम्पर्क करें।

-धूम्रपान व अन्य मादक पदार्थों के सेवन से परहेज करें।

-सनस्क्रीन एसपीएफ 50 का उपयोग अपनी त्वचा को तेज धूप से बचाने के लिए करें।

-यूवी किरणों से अपनी आंखों के बचाव हेतु सन ग्लासेस का उपयोग करें।

-यात्रा के दौरान पानी पीते रहें और भूखे पेट ना रहें।

-लम्बी पैदल यात्रा के दौरान बीच-बीच में विश्राम करें।

-ऊंचाई वाले क्षेत्रों में व्यायाम से बचें।

-किसी भी स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी के लिए 104 और एम्बुलेस के लिए 108 हेल्पलाइन नम्बर पर सम्पर्क करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here