यूक्रेन में फंसे उत्तराखंड के इन जिलों के बच्चे, आंकड़ा आया सामने, जुटाई जा रही सबकी जानकारी

देहरादून -यूक्रेन पर रूस के हमले के बाद यूक्रेन में कई भारतीय और उत्तराखंड के बच्चे फंसे हुए हैं। इनमे से एक है  उधमसिंहनगर जिले के दिनेशपुर निवासी छात्र अमन जो की वहां मेडिकल की पढ़ाई करने गए। अमन के परिवार वाले चिंता में हैं। दिनेशपुर निवासी दीपंकर रॉय व उसका परिवार बेहद परेशान है। दीपांकर रॉय का बेटा अमन यूक्रेन में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहा है और वो यूक्रेन में है। परिजनों ने भारत सरकार से बेटे सहित सभी भारतीयों को सुरक्षित वापस लाने की गुहार लगाई है। जानकारी मिली है कि

आपको बता दें कि दिनेशपुर वार्ड नं 4 निवासी दीपांकर रॉय सामान्य परिवार से है। उनका बेटा अमन रॉय वर्ष 2019 में एमबीबीएस की पढ़ाई के लिए यूक्रेन गया था। यूक्रेन पर रूस के हमले के बाद पिता दीपांकर रॉय, मां सुमित्रा रॉय व परिवार जनों की नजरें टीवी पर लगी है। मिसाइलों के फूटेज आ रहे हैं तो परिवार की चिंता ओर बढ़ गई है। रॉय परिवार ने अपने बेटे समेत यूक्रेन में फंसे सभी भारतीयों को सुरक्षित भारत लाने की गुहार भारत सरकार से लगाई है। वहीं जानकारी मिली है कि यूक्रेन में कुमाऊं मंडल के 13 बच्चे फंसे हुए हैं।

टिहरी जिले के 5 बच्चे यूक्रेन में फंसे

वहीं बता दें कि टिहरी जिले के भी 5 बच्चे यूक्रेन में फंस हुए हैं जिनमें सौम्या राणा पुत्री उदय वीर राणा सेक्टर 9ए बौराड़ी,सिद्धि तोप वाल पुत्री पदम सिंह ग्राम नवागर, मनीष राणा पुत्र जसपाल राणा सेक्टर 9बी बौराड़ी, पारस पुत्र मान सिंह रौतेला सेक्टर 8बी बोराड़ी, आदित्य कंडारी पुत्री दरमियान 7डी बौराड़ी शामलि हैं। इनके परिजनों ने बच्चों को सुरक्षित भारत लाने की गुहार लगाई है।

ऐडवोकेट शराफत अली गोड के बेटे मोहम्मद अहमद गोड भी यूक्रेन में फंसे

रुड़की के शाहपुर गांव निवासी ऐडवोकेट शराफत अली गोड के बेटे मोहम्मद अहमद गोड भी यूक्रेन में फंसे हुए हैं, मोहम्मद अहमद ने रफ़्तार मीडिया को एक वीडियो यूक्रेन से भेजा है, जिसमें वो बता रहे कि वो इवानो फ्रेंकिस नेशनल यूनिवर्सिटी में पढ़ाई कर रहे हैं जो यूक्रेन में मौजूद है जहां पर रशिया ने अटैक कर दिया है, जिसके चलते यहां पर बड़ी भगदड़ मची हुई है, उन्होंने बताया कि वहां की मार्कीट में स्टॉक भी खत्म हो चुका है, उन्होंने बताया कि यहां पर इंटरनेशनल ट्रांजेक्शन भी नहीं हो पा रहा है, जिस कारण हमारे पास सबकुछ खत्म हो चुका है, इसके अलावा वहां के एटीएम मशीनों में भी पैसे खत्म हो चुके हैं, जिसके चलते यहां पर पढ़ाई कर रहे छात्र बहुत ही परेशान है और डरे सहमे हुए हैं, मोहम्मद अहमद ने सरकार से गुहार लगाई है कि हमें यहां से जल्द से जल्द निकाला जाए और हमें यहां से सुरक्षित हमारे घर पहुंचाया जाए।

पूर्व विधायक की बेटी यूक्रेन में फंसी

वहीं बता दें कि इसी के साथ नैनीताल में पूर्व विधायक डॉ नारायण सिंह जंतवाल की बेटी उर्वशी भी वहां फंसी है वो मेडिकल की पढ़ाई कर रही है. उनके परिजन ने सरकार से मदद की गुहार लगाई है। इसी के साथ हल्दवानी के गोजाजोली निवासी स्नेह प्रताप भी यूक्रेन में फंसे हुए हैं। स्नेह के परिजनों ने भी सरकार से मदद मांगी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here